विशेष


  • दिलचस्प रहा है स्टोक्स का उपद्रवी से सुपरह्यूमन तक का सफर  (20:29)
    लंदन, 15 जुलाई (आईएएनएस)। इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन ने जब हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स को सुपरह्यूमन का तमगा दिया तो उनके शब्दों में बनावट नहीं थी। आईसीसी विश्व कप-2019 के फाइनल में उनका जो प्रदर्शन रहा वो शानदार रहा। साथ ही टीम के फाइनल तक के सफर में उन्होंने अहम योगदान दिया।
  • मुफ्त वाई-फाई दिल्ली के लिए अभी भी एक सपना  (20:21)
    नई दिल्ली, 15 जुलाई (आईएएनएस)। अरविंद केजरीवाल सरकार का कार्यकाल समाप्त होने के करीब है लेकिन दिल्ली की जनता अभी भी राष्ट्रीय राजधानी में मुफ्त वाईफाई इंटरनेट परियोजना की प्रतीक्षा कर रही है। आम आदमी पार्टी (आप) ने अपने घोषणापत्र में मुफ्त वाई-फाई (वायरलेस इंटरनेट एक्सेस) देने का वादा किया था जो कि अब तक अमल में नहीं आया है।
  • 'जनक' जीता, क्रिकेट जीता  (18:44)
    नई दिल्ली, 15 जुलाई (आईएएनएस)। विश्व कप समाप्त हो चुका है। क्रिकेट बिरादरी को नया सरताज मिल गया है। यह सरताज क्रिकेट का 'जनक' है। लॉर्ड्स मैदान पर रविवार को हुए फाइनल मुकाबले के दौरान जो कुछ हुआ, उसे लेकर कई तरह की बातें की जा रही हैं लेकिन इन तमाम नकारात्मक बातों को अगर भुला दिया जाए तो सही अर्थो में क्रिकेट की जीत हुई है।
  • जन-शिकायतों के निपटारे को अहमियत दे रही है सरकार  (21:56)
    नई दिल्ली, 14 जुलाई (आईएएनएस)। मोदी सरकार में सुशासन और डिजिटलीकरण को प्रमुखता देने के साथ-साथ अब जन-शिकायतों के निपटारे को भी अहमियत दी जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इसके लिए समय दे रहे हैं और हर महीने किसी खास विभाग में प्राप्त बड़ी शिकायतों की छानबीन करने और उनके निपटारे पर ध्यान दे रहे हैं।
  • बॉलीवुड में बने रहने के लिए स्टील की नसों की जरूरत है : कैटरीना  (16:43)
    नई दिल्ली, 14 जुलाई (आईएएनएस)। भारतीय फिल्म अभिनेत्री कैटरीना कैफ को इस इंडस्ट्री में 16 साल हो गए और इस दौरान उन्होंने कई सफलताएं भी देखी और कुछ असफलताओं का स्वाद भी चखा। कैटरीना का कहना है कि हिंदी सिनेमा की इस चकाचौंध भरी दुनिया में बने रहने के लिए स्टील की नसों की जरूरत है।
  • फुटबाल के कारण झारखंड में बच्चियों का बाल विवाह, तस्करी रुकी  (16:05)
    रांची (झारखंड), 14 जुलाई (आईएएनएस)। अशिक्षित आदिवासी महिला 51 साल की तेत्री ने अपनी जिंदगी में काफी संघर्ष किया है, लेकिन अपनी सबसे छोटी बेटी अंशू कच्चाप को फुटबाल के खेल में प्रतिदिन आगे बढ़ते देखना और इंटर स्कूल फुटबाल टूर्नामेंट के लिए ब्रिटेन जाते हुए देखना उनके लिए सपने के सच होने जैसा है। इसी ने उन्हें अपनी उम्मीदों, सपनों के लिए लड़ाई लड़ने के लिए प्रेरित किया। अंशू जैसी कई और लड़कियों को खेल के माध्यम से दूसरों को प्रेरित कर रही हैं।
  • आप रिपोर्ट कार्ड : बनने थे 1000 मोहल्ला क्लिनिक, बने सिर्फ 191  (15:19)
    नई दिल्ली, 14 जुलाई (आईएएनएस)। आम आदमी पार्टी (आप), जिसे स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपने काम के लिए सराहा गया है, साढ़े चार साल के शासन के बाद भी अपने किए गए 1,000 मोहल्ला क्लिनिक के वादे पर खरी नहीं उतर पाई है, क्योंकि मार्च तक पार्टी केवल 191 क्लिनिक ही चालू करा सकी है।
  • अपनी छवि बदलने के लिए तैयार हैं नवाजुद्दीन  (13:20)
    मुंबई, 14 जुलाई (आईएएनएस)। अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी अपनी अगली फिल्म 'बोले चूड़ियां' में एक चूड़ी विक्रेता के रूप में गांव की लड़कियों संग रोमांस करते हुए एक रैप गीत पर परफॉर्म करते नजर आएंगे। इसे देखकर लगता है कि नवाजुद्दीन इस फिल्म के साथ अपनी छवि बदलने को बिल्कुल तैयार हैं।
  • वंचित वर्ग की आवाज बन रहा बॉलीवुड  (13:12)
    नई दिल्ली, 14 जुलाई (आईएएनएस)। बीते कुछ समय से बॉलीवुड की फिल्मों में छोटे शहरों की प्रेम कहानियों और वंचितों को तवज्जो दी जाने लगी है। ग्लैमर से भरपूर 'बद्रीनाथ की दुल्हनिया', 'हंप्टी शर्मा की दुल्हनिया', 'बरेली की बर्फी', 'रांझणा', 'सुपर 30' ऐसे ही कुछ उदाहरण हैं, जो भारत की अनेकता व विभिन्न पक्षों के साथ ही वंचितों की आवाज को भी सामने ला रहे हैं।
  • आईपीएल में टीमों का विस्तार चाहते हैं फ्रेंचाइजी, बोर्ड स्थायित्व का पक्षधर  (13:09)
    लंदन, 14 जुलाई (आईएएनएस)। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के फ्रेंचाइजियों और हितधारकों के बीच हुई बैठक को देखा जाए तो विभिन्न फ्रेंचाइज टूर्नामेंट में टीमों का विस्तार चाहते हैं, लेकिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) चाहता है कि कोई भी कदम उठाए जाए जाने से पहले जमीनी हकीकत को देखा जाए ताकि 2011 का घटनाक्रम दोबारा न दोहराया जाए जब कई कारणों के चलते टीमों की संख्या को दोबारा 10 से 8 करनी पड़ी थी।
  • उप्र : डॉक्टरों के बगैर कैसे सुधरेगी राज्य की सेहत!  (08:41)
    लखनऊ, 14 जुलाई (आईएएनएस)। केंद्र की सत्ता में उत्तर प्रदेश की धमक भले ही सबसे ऊपर हो, लेकिन सेहत के मामले में यह राज्य देश में सबसे निचले पायदान पर खिसक गया है। डॉक्टरों की कमी और प्रति व्यक्ति स्वास्थ्य पर कम खर्च राज्य की खराब सेहत के प्रमुख कारण हैं।
  • किसका सूखा खत्म होगा, किसके हिस्से आएगा विश्व कप!  (18:32)
    नई दिल्ली, 13 जुलाई (आईएएनएस)। विश्व क्रिकेट को 14 जुलाई लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर नया सरताज मिलना तय हो गया है। अब बस देखना यह है कि इंग्लैंड और न्यूजीलैंड में से कौन सी टीम विश्व कप ट्रॉफी उठाने के लम्बे समय के सपने को साकार कर पाती है।
  • मोर्गन की टीम ने ईसीबी ऑफिस के लिए तैयार किया तोहफा  (16:28)
    लंदन, 12 जुलाई (आईएएनएस)। इंग्लैंड ने आस्ट्रेलिया को दूसरे सेमीफाइनल में मात देकर आईसीसी विश्व कप-2019 के फाइनल में जगह बना ली है। फाइनल में उसका सामना लॉर्ड्स मैदान पर न्यूजीलैंड के साथ होगा। इंग्लैंड के लिए हालांकि यहां तक का सफर आसान नहीं रहा। 2015 में खेले गए पिछले विश्व कप में टीम बेहद खराब दौर से गुजरी थी और ऐसे में इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने सीमित ओवरों में टीम के प्रदर्शन की समीक्षा की थी।
  • रूट, विलियमसन के पास सचिन का 16 साल पुराना रिकार्ड तोड़ने का मौका  (14:50)
    नई दिल्ली, 12 जुलाई (आईएएनएस)। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड की टीमें आईसीसी विश्व कप-2019 के फाइनल में पहुंच चुकी हैं। इनमें से कोई एक टीम पहली बार विश्व चैम्पियन बनकर इतिहास रचेगी। यह तो टीम की सफलता होगी लेकिन इन सबके बीच, इंग्लैंड के जोए रूट और न्यूजीलैंड के केन विलियमसन के पास व्यक्तिगत रूप से भी इतिहास रचने का मौका है।
  • राजस्थान के एनजीओ ने पक्षियों के लिए बनाए 1-5 बीएचके फ्लैट  (19:42)
    जयपुर, 11 जुलाई (आईएएनएस)। वर्तमान में एक ओर जहां दुनिया भर के बिल्डर लोगों के लिए वर्ल्ड क्लास घर बनाने में व्यस्त हैं, वहीं राजस्थान का एक गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) पक्षियों के लिए सुंदर और रंगीन घरों का निर्माण कर रहा है, जहां एक बेडरूम-हॉल-किचन (बीएचके) से लेकर 5 बीएचके के बीच पक्षियों को आवास दिए जाएंगे।