2018-02-12
A | A- | A+    

Business Wire


बड़े ब्रोक्रेज हाउस की रिपोर्ट में डुकॉन के लिए मटेरीयल एफजीडी मौकों पर रोशनी डाली गई

Ducon Infratechnologies Limited (12:30PM) 

Business Wire India

डुकॉन टेक्नालॉजिज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और डुकॉन इंफ्राटेक्नालॉजिज लिमिटेड (डुकॉन) (बीएसई:534674, एनएसई:डीयूसीओएन), ने आज एलान किया कि हाल की एक मोतीलाल ओसवाल रिपोर्ट जिसका शीर्षक “एमिशन कंट्रोल इक्विपमेंट ऑर्डर्स टू फाइनली किक स्टार्ट” (उत्सर्जन नियंत्रण उपकरण के ऑर्डर आखिरकार शुरू होंगे) है में डुकॉन के लिए नई एफडीजी परियोजना के लिए ठोस मौकों का उल्लेख है। रिपोर्ट में भारत स्थित 195 जीडब्ल्यू के कोल फायर्ड प्लांट के लिए नए उत्सर्जन नियमों के अनुपालन से अगले पांच साल के लिए भावी एफजीडी प्रणाली के मौके पर रोशनी डाली गई है।

रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख किया गया है कि सेंट्रल इलेक्ट्रीसिटी अथॉरिटी (सीईए) ने अलग-अलग पावर प्लांट से चर्चा के आधार पर दिसंबर 2022 तक एक इंप्लीमेंटेशन प्लान बनाया है और वे उम्मीद करते हैं कि अगले 2-3 वर्षों में ऑर्डर खूब बढ़ेंगे क्योंकि लागू करने की अंतिम तिथि का पालन करने के लिए इन परियोजनाओं को लागू करने के लिए दो ढाई साल की आवश्यकता होगी। रिपोर्ट में 196 जीडब्ल्यू पर मौजूदा पावर प्लांट के रेट्रोफिट और 165 जीडब्ल्यू से नए प्लांट के एफजीडी सिस्टम के मौकों का पता चलता है, इनमें से सबों ने सीईए के साथ दिसंबर 2022 तक के इंप्लीमेंटेशन टाइमलाइन पर सहमति दी है और इसपर सीईए द्वारा 8.8-12.8 मिलियन/मेगावाट का अनुमानित पूंजीगत व्यय है। रिपोर्ट में इस बात का विवरण भी है कि अगले पांच वर्षों के दौरान प्रत्येक योग्य एफजीडी बोलीदाता करीब 13,000 करोड़ रुपए का एफजीडी ऑर्डर पाने वाला है।

एफजीडी क्षेत्र में डुकॉन के साख स्थापित हैं क्योंकि कंपनी दहानू पावक प्लांट के लिए 500 एमडब्ल्यू का एक सीवाटर एफजीडी 2007 में और उडुपी पावर प्लांट के लिए 2010 में 2x600 एमडब्ल्यू लाइमस्टोन एफजीडी चालू कर चुकी है। डुकॉन ने 3x250 एमडब्ल्यू लाइम स्टोन एफजीडी की आपूर्ति 2011 में एनटीपीसी / बीएचईएल को की है। ये सभी एफजीडी प्रोजेक्ट डुकॉन ने ग्लोबल टेंडर से हासिल किए थे और न्यूनतम लागत पर पेश की जाने वाली उन्नत टेक्नालॉजी के कारण संभव हुए थे।

डुकॉन के पास उपलब्ध एफजीडी टेक्नालॉजी इसकी अपनी है और इन्हें डुकॉन टेक्नोलॉजिज इंक. अमेरिका (डुकॉन, यूएसए) के साथ सात साल (2006-2013) के टेक्नालॉजी लाइसेंसिंग करार के जरिए हासिल किया था। डुकॉन यूएसए 1938 से कारोबार में है और इसके पास 30 से ज्यादा पेटेंट हैं तथा इसने दुनिया भर में 40,000 मेगावाट से ज्यादा विद्युत उत्पादन प्लांट को एफजीडी सिस्टम मुहैया कराया है। शुरू में हुए इस टेक्नालॉजी हस्तांतरण करार के परिणामस्वरूप डुकॉन को इन एफजीडी परियोजनाओं के लिए बोली लगाने के लिए किसी विदेशी टेक्नालॉजी कंपनी से साझेदारी और उसे रॉयल्टी देने की आवश्यकता नहीं है।
डुकॉन के चेयरमैन औ एमडी श्री अरुण गोविल ने कहा, “डुकॉन भारत में अकेली कंपनी है जिसके पास काम करने वाले चूनापत्थर एफजीडी संस्थापन हैं अन्य एफजीडी बोलीदाताओं की तुलना में में यह ऊंची खड़ी है।”

श्री गोविल ने आगे कहा, “हम एक अच्छी स्थिति में हैं और इसलिए आने वाले वर्षों में इनमें से कई ऑर्डर हासिल करने के मामले में आत्मविश्वास से पूर्ण हैं।”

डुकॉन इंफ्राटेक्नालॉजिज लिमिटेड के बारे में 
 
डुकॉन इंफ्राटेक्नालॉजिज लिमिटेड (बीएसई:534674, एनएसई:डुकॉन) एक उभरती टेक्नालॉजी कंपनी है जिसका आधार भारत में है। यह डिजिटल और संरचना क्षेत्र में भिन्न उद्योगों तथा कई कारोबारी वर्गों समाधान मुहैया कराती है। डिजिटल क्षेत्र में डुकॉन अपने ग्राहकों को वितरण सेवाएं मुहैया कराती है जो विपणन पहल, वितरण, बड़े पैमाने पर प्रापण और आद्योपांत तकनीकी सपोर्ट से संबद्ध है। संरचना क्षेत्र में इसका इरादा संपूर्ण समाधान पेश करने का है। इसमें देश भर में और पड़ोसी क्षेत्र में ग्रामीण बिजलीकरण, पर्यावरण नियंत्रण और मटेरियल हैंडलिंग क्षेत्र में टर्नकी प्रोजेक्ट पूरा करना शामिल है। कंपनी का नेतृत्व युवा और तेज-तर्रार पेशेवरों की एक टीम करती है जिन्हें तकनीकी, मार्केटिंग और बिक्री की जानकारी है और कंपनी तेजी से एक अग्रणी संस्थान बनने की दिशा में बढ़ रही है जिसका उद्देश्य डिजिटल और संरचना कारोबार के क्षेत्र में एक अग्रणी समाधान प्रदाता बनना है

अस्वीकरण : इस दस्तावेज में कतिपय बयान जो ऐतिहासिक तथ्य नहीं हैं, भविष्य उन्मुख बयान हैं। ऐसे भविष्य उन्मुख बयान कतिपय जोखिम और अनिश्चितताओं से भरे हैं जैसे सरकारी कार्रवाई, स्थानीय, राजनीतिक और आर्थिक प्रगति, प्रौद्योगिकीय जोखिम और कई अन्य घटक जो वास्तविक परिणाम को इस भविष्य उन्मुख बयान में अनुमानित बयान से काफी अलग होने का कारण हो सकते हैं। इसलिए, कंपनी ऐसे बयान के आधार पर की गई किसी भी कार्रवाई के लिए किसी भी तरह से जिम्मेदार नहीं होगी और इन बयानों को सार्वजनिक रूप से अद्यतन करने की कोई जिम्मेदारी नहीं लेती है जिससे बाद की घटनाओं और परिस्थितियों का पता चले।

स्रोत रूपांतर businesswire.com पर देखें : http://www.businesswire.com/news/home/20180207005740/en/
 
संपर्क :
डुकॉन:
हरीश शेट्टी, निदेशक
hshetty@ducon.com
या
दर्शित पारिख, कंपनी सचिव
investor@dtlindia.com
या
क्रिसटेनसेन इनवेस्टर रिलेशंस:
बिनय सारदा
bsarda@christensenir.com 

घोषणा (अस्वीकरण): इस घोषणा की मूलस्रोत भाषा का यह आधिकारिक, अधिकृत रूपांतर है। अनुवाद सिर्फ सुविधा के लिए मुहैया कराए जाते हैं और उनका स्रोत भाषा के आलेख से संदर्भ लिया जा सकता है और यह आलेख का एकमात्र रूप है जिसका कानूनी प्रभाव हो सकता है

India, Maharashtra, Thane