2017-05-11
A | A- | A+    

Business Wire


फिडो अलायंस और डाटा सिक्यूरिटी कौंसिल ऑफ इंडिया ने भारत में मजबूत ऑथेंटिकेशन मानक को बढ़ावा देने के लिए गठजोड़ किया

FIDO Alliance (9:58AM) 

Business Wire India

फिडो अलायंस (FIDO Alliance) ने आज डाटा सिक्यूरिटी कौंसिल ऑफ इंडिया (Data Security Council of India) यानी भारतीय डाटा सुरक्षा परिषद या डीएससीआई के साथ साझेदारी और फिडो इंडिया वर्किंग ग्रुप की शुरुआत की घोषणा की ताकि भारत में बाजार के लिए तैयार मजबूत ऑथेंटिकेशन स्टैंडर्ड्स (मानक) और समाधान के बारे में जागरूकता का प्रसार किया जा सके। 
 
यह महत्वपूर्ण है कि एक सुरक्षित, मुक्त, स्केलेबल और इंटरऑपरेबल व्यवस्था हो ताकि पासवर्ड पर निर्भरता कम की जा सके और इसके साथ ही उपयोगकर्ता की निजता की भी रक्षा हो। ये महत्वपूर्ण अवधारणाएं हैं जो फाइनेंस और अन्य प्रमुख उद्योग में सुरक्षित ऑथेंटिकेशन व्यवहारों को एनैबल कर रही हैं, एंटरप्राइज के अंदर और बाहर भी।
 
फिडो अलायंस के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर ब्रेट मैकडोवेल ने कहा, “ऑथेन्टिकेशन के मामले में भारत कई तरह से आगे है। उदाहरण के लिए, भारतीय रिजर्व बैंक का कहना है कि एक निश्चित सीमा से ऊपर ऑनलाइन लेन-देन में टू फैक्टर ऑथेन्टिकेशन का उपयोग किया जाए।” उन्होंने आगे कहा, “फिडो इंडिया वर्किंग ग्रुप की शुरुआत और डीएससीआई से साझेदारी से फिडो अलायंस की अंतरराष्ट्रीय पहुंच का विस्तार होता है तथा हमारे लिए भारतीय बाजार को यह बताना संभव होगा कि कैसे फिडो ऑथेंटिकेशन सेवा प्रदाताओं को इस तरह के आदेश पूरे करने में सहायता करेगा और साथ ही एक बार उपयोग किए जाने वाले पासकोड और डिजिटल सर्टिफिकेट के मुकाबले मजबूत ऑथेन्टिकेशन की सुरक्षा तथा उपयोगिता को काफी बेहतर करेगा।”
 
साझेदारी तैयार करने के बारे में डीएससीआई के सीईओ रमा वेदश्री ने कहा, “डिजिटल और मोबाइल बैंकिंग के विस्तार से उपभोक्ताओं को आश्वस्त रखने और विश्वास बनाने के लिए सुरक्षित और गड़बड़ी मुक्त ऑथेन्टिकेशन महत्वपूर्ण है। मजबूत ऑथेन्टिकेशन मानकों के प्रति जागरूकता के विस्तार में हम फिडो और इसके सदस्यों के साथ काम करने का इंतजार कर रहे हैं।”
 
फिडो इंडिया वर्किंग ग्रुप का नेतृत्व को-चेयर्स रमेश केसनुपल्ली, फिडो अलायंस के सह-संस्थापक और नोक नोक लैब्स के संस्थापक तथा एनएक्सपी सेमीकंडक्टर्स के सीनियर डायरेक्टर, ग्लोबल सेल्स एंड मार्केटिंग अशोक चंडक करेगे। शुरुआत के मौके पर भारत में सक्रिय 11 अग्रणी फिडो अलायंस सदस्य कंपनियां फिडो इंडिया वर्किंग ग्रुप में काम कर रही हैं : डिजिट सिक्योर, फेइटियन, फिंगर प्रिंट कार्ड्स, हाइपरसेक्यू, इंटेल कॉरपोरेशन, नोक नोक लैब्स, एनएक्सपी सेमीकंडक्टर्स, परसिसटेंट सिस्टम्स, रेडपाइन, सिनैप्टिक्स और यूनिकेन इंक। 
 
फिडो ऑथेंटिकेशन (FIDO authentication) पासवर्ड पर संस्थान और उपयोगकर्ता की निर्भरता कम करता है और इसकी जगह इंटरऑपरेबल ऑन डिवाइस ऑथेन्टीकेशन पेश करता है। जो मजबूत है और उपयोग आसान। फिडो क्षेत्रीय कामकाजी समूहों की शुरूआत करता है ताकि अपने सदस्यों में फिडो मानकों के प्रति जागरुकता की वृद्धि कर सके कि कैसे फिडो मानक बाजार की आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकें। फिडो अलायंस कामकाजी समूह के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए कृपया https://fidoalliance.org/working-groups/. पर आइए।
 
फिडो अलायंस के बारे में
 
फिडो (फास्ट आईडेंटिटी ऑनलाइन) अलायंस, (www.fidoalliance.org), का गठन जुलाई 2012 में किया गया था ताकि मजबूत ऑथेंटिकेशन (strong authentication) टेक्नालॉजिज के बीच इंटरऑपरेबिलिटी की कमी को दूर किया जा सके और उन समस्याओं  का हल ढूंढ़ा जा सके जिसका सामना उपयोगकर्ता कई सारे यूजरनेम और पासवर्ड बनाने तथा याद रखने में करते हैं। फिडो अलायंस ऑथेंटिकेशन की प्रकृति बदल रहा है और इसमें सरल, मजबूत ऑथेंटिकेशन के मानक हैं जो एक मुक्त, स्केलेबल इंटरऑपरेबल व्यवस्था के लिए मानक है और पासवर्ड पर निर्भरता कम करता है। ऑनलाइन सेवाओं को ऑथेंटिकेट करना हो तो फिडो ऑथेंटिकेशन उपयोग करने के लिए मजबूत, गुप्त और आसान है। 
 
फिडो के अलायंस निदेशक मंडल में अग्रणी अंतरराष्ट्रीय संगठन हैं : ऐटना, इंक (Aetna, Inc.)(एनवाईएसई: एईटी); अलीबाबा होल्डिंग्स (Alibaba Holdings) (एनवाईएसई: बाबा); अमेरिकन एक्सप्रेस (American Express) (एनवाईएसई: एएक्सपी); एआरएम होल्डिंग पीएलसी (ARM Holdings plc) (एलएसई: एआरएम और नैसडैक: एआरएमएच); बैंक ऑफ अमेरिका कॉरपोरेशन (Bank of America Corporation (एनवाईएसई:बीएसी); बीसी कार्ड (BC Card); क्रूशियलटेक (CrucialTec) (केआरएक्स: 114120); डॉन (Daon); ईजिस (Egis); फेईशिय़न  टेक्नालॉजिज (Feitian Technologies) (एक्सएसएचई : 300386); फिंगरप्रिंट कार्ड्स (Fingerprint Cards) (एसटीओ: एफआईएनजी-बी.एसटी); जेमाल्टो (Gemalto) एनवी (एएमएस: जीटीओ.एएस); गूगल (Google) (नैसडैक: जीओओजी); इंफीनियोन (Infineon Technologies AG) (एफएसई: आईएफएक्स/ ओटीसीक्यूएक्स: आईएफएनएनवाई); आईएनजी (ING)(एनवाईएसई: आईएनजी); इंटेल (Intel) (नैसडैक: आईएनटीसी); लेनोवो (Lenovo) (नैसडैक: एलएनवीजीवाई); मास्टरकार्ड (Mastercard) (एनवाईएसई: एमए); माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) (नैसडैक “एमएसएफटी”); नोक नोक लैब्स, इंक (Nok Nok Labs,Inc.); एनटीटी डोकोमो, इंक (NTT DOCOMO, INC.) (एनवाईएसई: डीसीएम); एनएक्सपी सेमीकंडक्टर्स एनवी (NXP Semiconductors N.V.)  (नैसडैक:एनएक्सपीआई); ओबर्थर टेक्नालॉजिज ओटी (Oberthur Technologies OT); पे पाल (PayPal) (नैसडैक:पीवाईपीएल); क्वालकॉम, इंक (Qualcomm, Inc.) (नैसडैक: क्यूसीओएम); रॉन सिक्योर कंपनी लिमिटेड (RaonSecure Co Ltd) (केओएसडीएक्यू: 042510); आरएसए (RSA®); सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (Samsung Electronics, Ltd) (कॉसकॉम: एसईसीएल); सिनैप्टिक्स (Synaptics) (नैसडैक: एसवाईएनए); यूएसएए (USAA); वास्को (VASCO Data Security International, Inc.)(नैसडैक: वीडीएसआई); वीजा इंक Visa Inc. (एनवाईएसई: V); यूबिको (Yubico).
 
डीएससीआई के बारे में
 
डाटा सिक्यूरिटी कौंसिल ऑफ इंडिया (डीएससीआई) भारत में डाटा सुरक्षा पर एक प्रमुख उद्योग संस्था है। इसकी स्थापना नैसकॉम (NASSCOM®) ने की है और यह साइबर स्पेस को सुरक्षित और विश्वसनीय बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए यह साइबर सुरक्षा और प्राइवेसी में सर्वश्रेष्ठ व्यवहारों, मानकों और पहल को स्थापित करेगा। डीएससीआई अपने साथ राष्ट्रीय सरकारें और उनकी एजेंसियां, उद्योग क्षेत्र को एकजुट करती हैं। इनमें पबलिक एडवोकेसी, थॉट लीडरशिप, क्षमता निर्माण और आउटरीच पहल के लिए आईटी-बीपीएम, बीएफएसआई, टेलीकॉम, उद्योग संगठन, डाटा प्रोटेक्शन अधिकारी और थिंक टैंक शामिल हैं।
 
वेबसाइट : www.dsci.in

स्रोत रूपांतर businesswire.com पर देखें : http://www.businesswire.com/news/home/20170508006334/en/
 
संपर्क :
फिडो अलायंस के लिए :
press@fidoalliance.org
या
डीएससीआई के लिए :
गौरव पंजाबी
gaurav@fidoalliance.org
या
media@dsci.in

India, Delhi, New Delhi