2016-09-08
A | A- | A+    

Business Wire


पिटनी बोवेज ने भारत में कॉरपोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के क्षेत्र में अपनी उपलब्धियों पर खुशी मनाई

Pitney Bowes (9:35AM) 

Business Wire India

कामर्स को शक्ति देने के लिए अभिनव उत्पाद और समाधान मुहैया कराने वाली अंतरराष्ट्रीय टेक्नालॉजी कंपनी पिटनी बोवेज (PBI) इंक (एनवाईएसई:पीबीआई) कॉरपोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) की पुरानी परंपरा को जारी रखे हुए है। इसके तहत ऐसे कार्यक्रम चल रहे हैं जो भारत में विविधता और नवीनता पर रोशनी डालते हैं। इस साल पिटनी बोवेज के 60 कर्मचारियों ने पांच कार्यक्रमों में हिस्सा लिया जिससे देश भर में 20,000 लोगों के जीवन में अंतर आया।

पिटनी बोवेज इंक के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, ग्लोबल इनोवेशन और मैनेजिंग डायरेक्टर इंडिया मनीष चौधरी ने कहा, “पिटनी बोवेज में हमारे सीएसआर प्रोग्राम से हमारे मूल्यों का पता चलता है जो यह बताते हैं कि अपने ग्राहकों, अपने कर्मचारियों और अपने समाज के लिए हम सही काम, सही ढंग से करते हैं। चूंकि इन कार्यक्रमों के जरिए हम देश भर में भिन्न समुदायों से जुड़ते हैं , इसलिए हम कार्यकर्ताओं और भागीदारों के समर्पण तथा उत्साह से प्रेरित होते हैं।”
 
सीएसआर और विविधता व इनक्लूजन कार्यक्रम के परिणामस्वरूप पिटनी बोवेज को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली है और इसमें भारत में नौकरी के लिए 2016 की जोरदार जगहों में से एक, की सूची में शामिल होना भी है। ये सूची हैं, वर्ल्ड ह्युमन रिसोर्स डेवलपमेंट (एचआरडी) कांग्रेस की "ड्रीम कंपनीज टू वर्क फॉर" और फोर्ब्स अमेरिकाज बेस्ट एम्पलायर्स लिस्ट। दुनिया भर में पिटनी बोवेज की 42 प्रतिशत लीडर्स महिलाएं हैं और अकेले भारत में कंपनी की 20 प्रतिशत लीडर्स महिलाएं हैं।  ,

भारत में पिटनी बोवेज के पांच सीएसअर प्रोग्राम इस प्रकार हैं :
 

दि पिटनी बोवेज एम्पलाइज वालंटीयर्स प्रोग्राम - जेओआरएडी (जस्ट वन रूपी अ डे यानी सिर्फ एक रुपए रोज) – यह एक चलता रहने वाला संग्रह अभियान है जो कर्मचारियों द्वारा और कर्मचारियों के लिए है। इसके तहत वे एक रुपए रोज दान करते हैं जो अनाथालयों और बुजुर्गों के घरों में भोजन के लिए और ऐसी ही चीजों के लिए होता है।
प्रोजेक्ट धारणा – यह एक ऐसा कार्यक्रम है जिसका मकसद महिलाओं के लिए विकास के खास मार्ग की पहचान करना है और इसके साथ पुरुषों की महिला-पुरुष जैसे विषयों पर बात-चीत में व्यस्त रखना है। एक संबद्ध पहल का नाम ‘मायेरी’ है जो कामकाजी महिलाओं को लाभ मुहैया कराती है। इसमें खाली समय और विकास के मौके शामिल हैं।
पिटनी बोवेज स्टार्ट अप ऐक्सीलेरेटर प्रोग्राम – अब अपने तीसरे वर्ष में है। यह कार्यक्रम महिला उद्यमियों पर केंद्रित है। आगे बढ़कर भाग लेने वाले आधे स्टार्टअप सफलतापूर्वक अपनी फंडिंग जुटाते हैं।
पिटनी बोवेज कोड इंसपायर – इस राष्ट्रीय सॉफ्टवेयर कोडिंग चैलेंज ने 180 विश्वविद्यालयों की 3000 से ज्यादा इंजीनियरिंग की छात्राओं की भागीदारी आकर्षित की। इसके समापन पर पांच महिलाओं को पिटनी बोवेज में पदों की पेशकश की गई।
इताशा इंडिया - इताशा (14 से 30 साल तक की आयु के) भारतीय युवाओं को बाजार उन्मुख नौकरी पर रखने योग्य व्यावसायिक कौशल मुहैया कराता है।  पिटनी बोवेज दो इताशा प्रोजेक्ट्स के लिए धन देता है। 1) औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के छात्रों को नौकरी पर रखने योग्य कौशल प्रशिक्षण और प्लेसमेंट और 2) असम में सरकारी स्कूल की लड़कियों के लिए कैरियर गाइडेंस की पायलट परियोजना।


 

पिटनी बोवेज के बारे में

पिटनी बोवेज (एनवाईएसआई: पीबीआई) एक ग्लोबल टेक्नालॉजी कंपनी है जो अरबों के लेन-देन को शक्ति देती है और ये भौतिक तथा डिजिटल होते हैं तथा बिना सीमा के कनेक्टेड विश्व में होते हैं। इसके ग्राहक दुनिया भर में फैले हुए हैं और इनमें 90 प्रतिशत फॉरच्यून 500 सूची की कंपनी है जो ग्राहक सूचना प्रबंध, लोकेशन इंटेलीजेंस, कस्टमर एंगेजमेंट, शिपिंग, मेलिंग और ग्लोबल कामर्स के लिए पिटनी बोवेज के उत्पादों समाधानों और सेवाओं पर निर्भर करते हैं। और, अभिनव, पिटनी बोवेज कामर्स क्लाउड से ग्राहक पिटनी बोवेज के समाधानों, एनालिटिक्स और एपीआई की विस्तृत रेंज ऐक्सेस कर सकते हैं ताकि कामर्स को आगे बढ़ा सकें। अतिरिक्त सूचना के लिए www.pitneybowes.com पर पिटनी बोवेज, दि क्राफ्ट्समेन ऑफ कामर्स के पास आइए।  
स्रोत रूपांतर बिजनेस वायर डॉट कॉम (businesswire.com) पर देखें : http://www.businesswire.com/cgi-bin/mmg.cgi?eid=51414642&lang=en
 
संपर्क :
पिटनी बोवेज
कणिका खिलनानी
kanika.khilnani@pb.com
या
जेनेसिस बर्सन मार्सटेलर
रिचा मेहता
richa.mehta@bm.com

India, Delhi, New Delhi

विशेष

और भी है

सदस्यता लें

IANS Photo