2015-10-26
A | A- | A+    

Business Wire


अमेरिकन टावर कॉरपोरेशन ने वियोम नेटवर्क्स में नियंत्रण योग्य हित के अधिग्रहण की घोषणा की

American Tower Corporation (11:22AM) 

Business Wire India

अमेरिकन टावर कॉरपोरेशन (एनवाईएसई: एएमटी), टाटा टेलीसर्विसेज लिमिटेड और एसआरईआई इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड ने आज एलान किया कि कई अन्य न्यूनांश धारकों के साथ मिलकर इनलोगों ने एक निर्णायक करार किया है जिसके अनुपालन में अमेरिकन टावर वियोम नेटवर्क्स लिमिटेड (“वियोम”) में 51 प्रतिशत नियंत्रण वाले हित का अधिग्रहण कर लेगा। वियोम इस समय पूरे भारत में करीब 42,400 बेतार संचार टावर का और 200 इनडोर डिस्ट्रीब्यूटेड एंटीना सिस्टम का परिचालन करता है। इसके लिए कुल 76 अरब रुपए नकद दिए जाएंगे।

बंदी के बाद, टाटा टेलीसर्विसेज लिमिटेड अपने होल्डिंग का हिस्सा अपने पास रखेगा। इसके साथ ही मैक्वेरी एसबीआई इंफ्रास्ट्रक्चर इनवेस्टमेंट प्रा. लिमिटेड, एसबीआई मैक्वेरी इंफ्रास्ट्रक्चर ट्रस्ट और आईडीएफसी प्राइवेट इक्विटी फंड III कतिपय हित अपने पास रखेंगे। करार के तहत अमेरिकन टावर वियोम के बाकी 49 प्रतिशत स्टेक में से पूरे या इसके हिस्से को अधिग्रहित कर सकता है या उसे इसका अधिग्रहण करने की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा, संबंधित पक्षों में इस बात पर सहमति है कि बंदी के बाद अमेरिकन टावर के करीब 14,000 टावर के मौजूदा भारतीय पोर्टफोलियो  का वियोम में विलय हो जाएगा, नतीजतन कतिपय स्वामित्व समायोजन किए जाएंगे।

अमेरिकन टावर के चेयरमैन, प्रेसिडेंट और मुख्य कार्यकारी अधिकारी जेम्स डी टायकलेट, जूनियर ने कहा, “करीब 1.3 अरब लोगों की आबादी, तेजी से बढ़ती स्मार्ट फोन की पहुंच और फिक्स्ड लाइन की सीमित संरचना के साथ भारत का जीवंत बेतार उद्योग नेटवर्क में लंबी अवधि तक निवेश के लिए तैयार है। एटीसी इंडिया के टावर्स की बेहद विस्तारित श्रृंखला हमारे लिए संचार की रीयल इस्टेट आवश्यकताएं मुहैया कराने की मुख्य भूमिका निभाना संभव करेगी जिससे पूरे भारत में उन्नत बेतार टेक्नालॉजी तैनात की जा सकेगी और भारत सरकार की डिजिटल इंडिया पहल का समर्थन किया जा सकेगा।”

इस सौदे पर टिप्पणी करते हुए टाटा टेलीसर्विसेज लिमिटेड के डायरेक्टर इसहास हुस्सैन ने कहा, “एटीसी के साथ साझेदारी टाटा टेलीसर्विसेज लिमिटेड के लिए एक ऐसा मौका पेश करती है जिससे बेहतर संरचना पोर्टफोलियो को आगे बढ़ाया जा सके और भारत में तेजी से बढ़ते बाजार की आवश्यकताएं अगली पीढ़ी की डाटा सेवाओं के लिए बेहतर ढंग से पूरी की जा सकें।”

वियोम के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक तथा एसआरईआई इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड के वाइस चेयरमैन सुनील कनोरिया ने कहा, “टेलीकॉम टावर के क्षेत्र में हमलोगों ने सर्वश्रेष्ठ में से एक परिसंपत्ति तैयार की है। इसमें नकद प्रवाह की मजबूत धारा है, उद्योग का सर्वोच्च टिनेन्सी अनुपात है और सु-विविधीकृत टिनैन्ट मेल है। इसके अलावा, हमलोगों ने विश्व स्तर की मैनेजमेंट टीम बनाई है। हमें खुशी है कि हमने वियोम के लिए एक नई मैनेजमेंट टीम पाई है और मानते हैं कि सफलता के अपने जाने-माने ट्रैक रिकार्ड के मद्देनजर एटीसी इन परिसंपत्तियों को सर्वश्रेष्ठ बनाना जारी रखने के लिहाज से अच्छी स्थिति में है। एसआरईआई की तरफ से देखें तो वियोम के विनिवेश का बहुमुखी प्रभाव होगा और एसआरईआई की लाभदेयता बढ़ेगी तथा यह शेयरधारकों और एसआरईआई दोनों के लिए लाभप्रद होगा।”

अमेरिकन टावर का अनुमान है कि इस सौदे के पूर्ण होने के बाद वियोम के पूरे वित्तीय परिणाम सुदृढ़ होंगे। 30 जून 2015 को समाप्त तिमाही के दौरान वियोम ने निम्नलिखित वार्षिक परिणाम तैयार किए : करीब 50 अरब रुपए किराए और मैनेजमेंट राजस्व के मद में और करीब 21 अरब रुपए ग्रॉस मार्जिन के लिए। इसके अलावा, 30 सितंबर 2015 की स्थिति के अनुसार वियोम के करीब 58 अरब रुपए का कर्ज बकाया था। अमेरिकन टावर को उम्मीद है कि यह सौदा एएफएफओ को प्रति शेयर तत्काल प्रभाव से लाभ देगा।

अमेरिकन टावर के एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट और प्रेसिडेंट, एशिया अमित शर्मा ने आगे कहा, “टाटा समूह के साथ करीब 56,000 टावर के संयुक्त स्वामित्व के जरिए अमेरिकन टावर लीजिंग के राजस्व में वृद्धि से लाभ पाने के लिहाज से रणनीतिक स्थिति में रहेगा और यह बाजार में मौजूद सभी बेतार कैरियर्स द्वारा 3जी तथा 4जी की तैनाती को गति दिए जाने से होगा।”

अमेरिकन टावर का इरादा इस सौदे के लिए इस तरह से वित्त प्रबंध करना है कि वह इसके इनवेस्टमेंट ग्रेड क्रेडिट रेटिंग को कायम रखने से तालमेल में हो। यह सौदा बंदी की रिवाजी स्थितियों और नियामक मंजूरी के बाद पूरा होगा और उम्मीद की जाती है कि 2016 के मध्य तक संपन्न हो जाएगा।

अमेरिकन टावर ने एवरकोर और कोटक इनवेस्टमेंट बैंकिंग का उपयोग वित्तीय सलाहकार के रूप में किया और क्लिफोर्ड चांस, एजेडबी एंड पार्टनर्स तथा लुथरा एंड लुथरा ने विधि सलाहकार के रूप में काम किया। क्रेडिट सुइसे ने वियोम और इसके शेयरधारकों के लिए एक्सक्लूसिव वित्तीय सलाहकार के रूप में काम किया। सिरिल अमरचंद मंगलदास ने वियोम और इसके प्राथमिक शेयरदारकों के लिए विधि सलाहकार के रूप में काम किया।

अमेरिकन टावर के बारे में

अमेरिकन टावर सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय आरईआईटी में से एक है और मल्टी टैनैन्ट कम्युनिकेशंस रीयल इस्टेट का अग्रणी स्वतंत्र स्वामी, ऑपरेटर, और डेवलपर है जिसके पास करीब 97,000 कम्युनिकेशंस साइट का पोर्टफोलियो है। अमेरिकन टावर और इसके सौदे के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए कृपया हमारे वेबसाइट www.americantower.comपर “इनवेस्टर रिलेशंस” (निवेशक संबंध) सेक्शन में कंपनी और इंडस्ट्री रीसोर्स वाले हिस्से को देखें।

टाटा टेलीसर्विसेज लिमिटेड (“टीटीएल”) के बारे में

टीटीएल भारत की अग्रणी मोबाइल दूरसंचार सेवा प्रदाताओं में से एक है जो देश भर में फैले उपभोक्ताओं को मोबाइल कनेक्टिविटी, कंटेंट और सेवाएं मुहैया कराती है। कंपनी भारत में दूरसंचार अनुभव को पुनर्पारिभाषित करने में अग्रणी रही है और प्रौद्योगिकी तौर पर उन्नत उत्पाद व सेवाएं पेश करती रही है और इस तरह, जीवन को आसान बनाने में सक्षम भूमिका निभाती रही है और डिजिटल इनक्लूजन का विस्तार करती रही है। टीटीएल की सहयोगियों के साथ मिलकर देश भर में उपस्थिति है और यह भारत के 19 दूरसंचार सर्किल में है। टीटीएल अपने ग्राहकों को एकीकृत ब्रांड नाम टाटा डोकोमो के तहत एकीकृत दूरसंचार समाधान की पेशकश करता है और अपने बेतार नेटवर्क  परिचालन जीएसएम, सीडीएमए और 3जी टेक्नालॉजी प्लैटफॉर्म पर करता है। विवरण के लिएwww.tatateleservices.com. पर आइए।

एसआरईआई इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड के बारे में (“एसआरईआई”)

एसआरईआई भारत के सबसे बड़े निजी क्षेत्र के एकीकृत संरचना संस्थानों में से एक है जो संरचना क्षेत्र में लगातार समान रूप से अभिनव समाधान डिलीवर कर रहा है। कंपनी ढाई दशक से शहरी और ग्रामीण दोनों भारत में राष्ट्र निर्माण में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाती रही है। एसआरईआई के कारोबारों में इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट फाइनेंस, एडवाइजरी और डेवलपमेंट, इंफ्रास्ट्रक्चर इक्विपमेंट फाइनेंस, अल्टरनेटिव इनवेस्टमेंट फंड्स, कैपिटल मार्केट और इंश्योरेंस ब्रोकिंग शामिल हैं। एसआरईआई का मुख्यालय कोलकाता में है और इसका 86 शाखाओं का नेटवर्क है।

भविष्य उन्मुख बयानों के संबंध में चेतावनी

इस प्रेस विज्ञप्ति में भविष्य की घटनाओं और अपेक्षाओं के बारे में बयान है या इसमें “भविष्य उन्मुख बयान” है और यह सब स्वाभाविक तौर पर अनिश्चित है। हमलोगों ने इन भविष्य उन्मुख बयानों को प्रबंधन की मौजूदा अपेक्षाओं और मान्यताओं पर आधारित रखा है ना कि ऐतिहासिक तथ्यों पर। ऐसे बयानों के उदाहरण में ऊपर बताई गई सौदे की प्रस्तावित बंदी, अपेक्षित वित्तीय अनुमान और हमारे समेकित परिणामों पर प्रभाव, अपेक्षित नकद देय और भुगतान के लिए धन के अपेक्षित स्रोत आदि शामिल हैं जिनकी चर्चा ऊपर की गई है पर कुल मिलाकर ऐसे बयान इतने ही नहीं हैं। ये भविष्य उन्मुख बयान कई तरह के जोखिमों और अनिश्चितताओं से जुड़े होते हैं। इससे महत्त्वपूर्ण घटकों के मामले में वास्तविक परिणाम हमारे भविष्य उन्मुख बयान में बताए गए परिणाम से काफी अलग हो सकते हैं। हम चाहते हैं कि कृपया 31 दिसंबर 2014 तक की अवधि के लिए फॉर्म 10-के में आयटम 1ए के तहत दी गई हमारी सूचना का संदर्भ लें जो “जोखिम घटक” शीर्षक के तहत हैं तथा अन्य फाइलिंग भी देखें जो हम सिक्यूरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन में देते हैं। बाद की घटनाओं और परिस्थितियों को बताने के लिए हम इस प्रेस विज्ञप्ति में दी गई सूचना को अद्यतन करने की कोई जिम्मेदारी नहीं लेते हैं।

एएफएफओ एक गैर जीएएपी वित्तीय उपाय है। ज्यादा जानकारी के लिए हमारा फॉर्म 10-क्यू देखें जो 30 जून 2015 को समाप्त तिमाही के लिए है और परिचालन के परिणाम “मैनेजमेंट्स डिसकशन एंड एनालिसिस ऑफ फाइनेंशियल कंडीशन एंड रीजल्ट्स ऑफ ऑपरेशंस – गैर-जीएएपी वित्तीय उपायों” और “रीजल्ट्स ऑफ ऑपरेशंस” के तहत दिए गए हैं। इसके अलावा, प्रति शेयर एएफएफओ एक गैर जीएएपी उपाय है और इसे एएफएफओ के रूप में पारिभाषित किया गया है जो आउटस्टैंडिंग डायल्यूटेड वेटेड एवरेज कॉमन शेयर के रूप में पारिभाषित है।

स्रोत रूपांतर बिजनेसवायर डॉट कॉम (businesswire.com) पर देखें : http://www.businesswire.com/news/home/20151021005748/en/
 
संपर्क :
अमेरिकन टावर इनवेस्टर रिलेशंस संपर्क :
लीह स्टर्न्स, 617-375-7500
सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, कोषाध्यक्ष और निवेशक संबंध
या
एटीसी इंडिया जनसंपर्क:
इमेज पबलिक रिलेशंस
सुनैना जयरथ, 98116 45243
या
टीटीएल इनवेस्टर रिलेशंस कांटैक्ट :
अनुपमा चोपड़ा
anupama.chopra@tatatel.co.in
या
एसआरईआई संपर्क :
सुगातो बनर्जी, 33660 23211
प्रमुख – ब्रांड एंड संचार

India, Delhi, New Delhi