15-03-2017
A | A- | A+    

PR Newswire


जेम एंड ज्वैलरी इंडिया इंटरनेशनल एग्जिबिशन (GJIIE) चैन्नई के 13वें संस्करण का दक्षिण भारत द्वारा ज़ोरदार स्वागत

 (11:30 Hrs. IST) 

चैन्नई, March 15, 2017 /PRNewswire/ --

MJDMA और UBM India  की ओर से आयोजित एक भव्य B2B रत्न एवं आभूषण प्रदर्शनी, जो मुख्य रूझानों, और औद्योगिक जानकारियों को रेखांकित करती है।  

मद्रास ज्वैलर्स डायमंड मर्चेन्ट्‌स एसोसिएशन (MJDMA) और देश की अग्रणी प्रदर्शनी आयोजनकर्ता कंपनी UBM India द्वारा आयोजित जेम एंड ज्वैलरी इंडिया इंटरनेशनल एग्जिबिशन (GJIIE) के 13वें संस्करण का चैन्नई ट्रेड सेंटर में आज शुभारंभ हुआ। मुख्य अतिथि Mr. KC Veeramani, माननीय वाणिज्य कर एवं पंजीकरण मंत्री तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों Mr. Jayantilal Chalani, प्रेसिडेंट, MJDMA, Mr. Rajesh Vummidi, चेयरमैन, MJDMA - GJIIE, Mr. Rajendra Jain, मैनेजिंग डायरेक्टर, Swarovski Gems, Mr. Yogesh Mudras, मैनेजिंग डायरेक्टर, UBM India और Mr. Abhjit Mukherjee, ग्रुप डायरेक्टर, UBM India ने उद्योग जगत के प्रतिष्ठित व्यक्तियों की उपस्थिति में इस शो का उद्‌घाटन किया।

     (Photo: mma.prnewswire.com/media/477257/UBM1.jpg )      (Photo: mma.prnewswire.com/media/477271/UBM2.jpg )      (Logo: mma.prnewswire.com/media/471349/UBM_Logo.jpg )

तीन दिवसीय (10 से 12 मार्च) GJIIE भारत में 300 से अधिक प्रदर्शनीकर्ताओं की भागीदारी वाली दूसरी सबसे बड़ी रत्न एवं आभूषण B2B प्रदर्शनी है जिसमें होलसेलर्स, रिटेलर्स, आयातक और निर्यातक, ज्वैलरी निर्माता, मशीनरी निर्माता, हीरों, रत्नों, मोतियों के सप्लायर और व्यापारी, कीमती धातु और गहने बनाने वाले व्यापारी और सप्लायर, और व्यापारिक तथा सरकारी संस्थाओं के प्रतिनिधि भागीदारी कर रहे हैं। दक्षिण भारत पर विशेष रूप से केंद्रित होने के साथ यह भारतीय ज्वैलरी बाज़ार के लिए एक प्रवेशद्वार की तरह है जो खरीदारों और सप्लायरों को एक स्थान पर मिलने, नेटवर्क बनाने, विचारों का आदान-प्रदान करने, नए रूझानों की खोज करने और अपना कारोबार बढ़ाने के लिए अवसर उपलब्ध कराता है। प्रतिष्ठित स्थानीय और विदेशी खरीददारों को लगातार आकर्षित करने वाला यह एक्सपो, उद्योग जगत के लिए एक प्रमाणित और भरोसेमंद सोर्सिंग हब के रूप में अपनी पहचान कायम कर चुका है। भारत में टियर I, II और III शहरों के अलावा इस प्रदर्शनी में न्यूयॉर्क, दुबई, सिंगापुर और मलेशिया से भी प्रतिनिधियों की भागीदारी ने GJIIE 2017 की अंतर्राष्ट्रीय व्यापकता और प्रसिद्धि को साबित कर दिया है।

प्रदर्शनी में प्रदर्शनीकर्ताओं ने विविध प्रकार की वस्तुएं प्रस्तुत की हैं जिनमें हीरे, मोती, रत्न, जड़ाऊ ज्वैलरी, विशिष्ट दक्षिण भारतीय ज्वैलरी जिनमें टेम्पल नक्शी ज्वैलरी, रत्न जटित ज्वैलरी शामिल है, और ब्राइडल ज्वैलरी जैसे कि मंगा मलाई, कासु माला और पची डिज़ाइन कुछ प्रमुख हैं। निर्माण प्रक्रिया में उपयोग की जाने वाली नवीनतम मशीनरी और अन्य रिटेल उत्पाद व सेवाएं भी प्रदर्शित की गईं।

इस वर्ष प्रदर्शनी में भाग लेने वाले उल्लेखनीय प्रदर्शनीकर्ताओं में हैदराबाद, बंगलौर, चैन्नई, कोयम्बटूर, कोलकाता, मुंबई, जयपुर, दिल्ली, अहमदाबाद, सूरत व अन्य स्थानों के अग्रणी प्रतिनिधि शामिल रहे। प्रदर्शनी में शामिल अग्रणी कंपनियों में Mohanlal Jewellers Pvt. Ltd, Laxmi Jewellery Chennai Pvt. Ltd, Jai Gulab Dev Jewellers, JC Jewellers (Chennai) Pvt Ltd, Mukti gold, Krizz, Emerald Jewel Industry India Ltd, Unique Chain Pvt Ltd, White Fire Diamonds India Pvt Ltd, Prakash Gold Palace Pvt. Ltd, Vijay Gems & Jewellery, Grurukrupa Exports, Peeyar Manufacturers, Gitanjali Jewellery Retail Limited, Swarnshilp Chains & Jewellers Pvt Ltd, Chain N Chains, ORO, JKS Jewels, Anmol Swarn, Matushree Gold और Mehta Gold व अन्य शामिल हैं।

इसकी स्थापना से लेकर पहली बार GJIIE में एक समस्त तमिलनाडु प्रेसिडेंट और सैक्रेटरी सम्मेलन और GJF ज़ोनल सम्मेलन का आयोजन भी किया जाएगा जिसमें प्रमुख एसोसिएशन व शीर्षस्तरीय संस्थाओं के लोग इस राज्य में व्यापार की प्रमुख उपलब्धियों और चुनौतियों पर चर्चा करेंगे। युवा उपभोक्ता अब स्वर्ण और ज्वैलरी को परिसंपत्ति मानने के बजाय हल्के, स्टाइलिश और पहनने योग्य पीस ज़्यादा पसंद करने लगे हैं, इस परिप्रेक्ष्य में एक्सपो में GIA के साथ आयोजित दो दिवसीय सेमिनार इस व्यापार से जुड़े लोगों को महत्त्वपूर्ण नई जानकारियां उपलब्ध कराएगा। 'जेमोलॉजी एंड स्पॉटलाइट ऑन सिंथेटिक्स' पर आयोजित सेमिनार में प्रयोगशाला निर्मित रत्नों का प्रदर्शन किया जाएगा जिनका रंगरूप तथा रासायनिक, भौतिक और प्रकाशिक गुण भी प्राकृतिक रत्नों के समान होते हैं। इसके अलावा MSME और SBI द्वारा 'स्कीम्स इन ज्वैलरी' और 'मेटल गोल्ड लोन' पर आयोजित सेमिनार बहुमूल्य धातुओं एवं रत्नों में व्यापार करने वालों के लिए विशेष रूचि के विषय होंगे। चूंकि इस सेक्टर में अब विश्वस्तर पर ग्राहकों को उत्कृष्ट अनुभव उपलब्ध कराने पर सबसे ज़्यादा ज़ोर है, और परिष्कृत, अंतर्राष्ट्रीय रूझानों को अपनाया जा रहा है, इस संदर्भ में दूसरे दिन अग्रणी विचारकों की भागीदारी वाली पैनल चर्चाएं 'इनोवेटिव थिंकिंग' और 'ज्वैलरी टेक्नोलॉजी ट्रांसफॉर्मेशन' इस उद्योग में नए प्रवेशकर्ताओं के लिए उपयोगी साबित होंगी।

GJIIE में पहली बार अद्वितीय डिज़ाइनों के प्रदर्शन हेतु शामिल एक खास गैलरी -'इनोवेटिव ज़ोन' इस शो को और अधिक रोचक व प्रेरक बनाने के लिए है। इसके अलावा 'हॉल ऑफ फेम' जो कि बहुमूल्य धातुओं और रत्नों से बनी सूक्ष्म कलाकृतियों का एक डिस्प्ले है, भी शो का एक चर्चित प्रस्तुतिकरण है, और एक 'स्वारोवस्की गैलरी' भी, जिसमें चमकदार क्रिस्टलों के नए कलेक्शन को प्रदर्शित किया गया है। दूसरे दिन शाम को आयोजित किया जाने वाला फैशन शो, इस सीज़न के नए रूझानों की झलक देने वाले ज्वैलरी के आकर्षक नमूनों की पेशकश से सजा एक खास आयोजन है, जिसके बाद प्रदर्शनीकर्ताओं के लिए नेटवर्किंग नाइट का आयोजन होगा।

देश के दूसरे सबसे बड़े ज्वैलरी एक्सपो GJIIE 2017 के उद्‌घाटन के अवसर पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए Mr. Yogesh Mudras, मैनेजिंग डायरेक्टर, UBM India ने कहा कि, "भारतीय रत्न और आभूषण उद्योग भारतीय अर्थव्यवस्था के सबसे तेज़ी से विकास करने वाले क्षेत्रों में से एक है, और 2014-19 की अवधि में 15.95% से अधिक चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (CAGR) से इसके बढ़ने का अनुमान है। इस उद्योग क्षेत्र में भरपूर संभावनाएं मौजूद हैं, जो निर्यात उन्मुख और श्रम सघन होने की वजह से भी भारत को वैश्विक ज्वैलरी बाज़ार का मुख्य केंद्र बनाने के लिए पर्याप्त हैं। विमुद्रीकरण और GST के सिद्धांतों के अनुरूप ज्वैलरी सेक्टर पूरी पारदर्शिता के साथ काम करने के लिए तत्पर है जहां ज़्यादातर उपभोक्ता अब डिजिटल भुगतान विकल्पों को चुन रहे हैं। इन चुनौतियों पर बात करने और इन चुनौतियों तथा नए बदलावों से उत्पन्न नई चुनौतियों के समाधान खोजने के लिहाज से यह बहुत आवश्यक है कि पूरा समुदाय एक प्लेटफॉर्म पर एकत्रित होकर इस पर विचार करे। देश में दूसरा सबसे बड़ा ज्वैलरी एक्सपो होने के नाते GJIIE को खरीददारों और प्रदर्शनीकर्ताओं को यह उपयुक्त परिवेश प्रदान करने हेतु भूमिका निभाने का गर्व है, जो ज्वैलरी निर्माण कला में नए कीर्तिमान रचने के लिए प्रेरित हैं।"

उन्होंने आगे बताया कि "दक्षिण भारत बहुमूल्य और अर्धबहुमूल्य जड़ाऊ ज्वैलरी, हैंडमेड ज्वैलरी, कास्टिंग ज्वैलरी, और लाइटवेट गोल्ड ज्वैलरी का केंद्र माना जाता है। GJIIE के माध्यम से UBM India एक अंतर्राष्ट्रीय व्यापारिक प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराने हेतु तत्पर है जो ज्वैलरी, हीरों, मोतियों और रत्नों के सप्लायरों को दक्षिणी क्षेत्र में स्थानीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रमुख खरीददारों से मिलने, बातचीत करने और नेटवर्क बनाने के लिए मौका प्रदान करेगा। यह इस क्षेत्र में ज्वैलरी उद्योग के लिए नए बेंचमार्क स्थापित करेगा और व्यापार को बढ़ावा देगा।"

GJIIE के 13वें संस्करण के अवसर पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए Mr. Jayantilal Chalani, प्रेसिडेंट, MJDMA ने कहा कि, "कम लागतों, और उच्चकोटि के कुशल श्रम संसाधन की उपलब्धता की वजह से भारत वैश्विक ज्वैलरी बाज़ार का केंद्र माना जाता है। भारत में रत्न और आभूषण बाज़ार में 5,00,000 से अधिक व्यावसायिक हैं जिनमें ज़्यादातर संख्या छोटे कारोबारियों की है। GJIIE व्यापार क्षेत्र के लिए, और इस व्यापार क्षेत्र की ओर से एक पहल है। देश में टियर II और टियर III शहरों सहित कोने-कोने से लोगों की इस एक्सपो में भागीदारी देखकर हमें प्रसन्नता है।"

उन्होंने आगे बताया कि, "अक्टूबर 2016 में आयोजित हमारे पिछले संस्करण के दौरान मिली जबरदस्त प्रतिक्रियाओं के बाद आयोजित GJIIE का 13वां संस्करण जबरदस्त कारोबारी संभावनाओं के साथ अधिक भव्यतापूर्ण साबित होगा। आयोजकों के रूप में MJDMA और UBM India ने सदैव ही GJIIE में सर्वोत्तम क्लाइंट्‌स की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए प्रयास किए हैं जिसके लिए लगातार प्रचार-प्रसार किए गए और टियर दो और टियर तीन शहरों सहित प्रमुख शहरों में बड़े रोड शो भी आयोजित किए गए।"

विश्वस्तर पर ऐसे ही जाने-माने ज्वैलरी फेयर आयोजित करते हुए UBM लगभग तीन दशकों से ज्वैलरी उद्योग का अभिन्न अंग रहा है। GJIIE उन चार सफल देशव्यापी ज्वैलरी शो (कोलकाता, चैन्नई, हैदराबाद और दिल्ली) में से एक है जो UBM India द्वारा वार्षिक रूप से आयोजित किए जाते हैं।

GJIIE 2017 पर उद्योग जगत की प्रतिक्रियाएं और नई लॉन्च/डिस्प्ले: 

Ankit Jain, डायरेक्टर, Matushree Gold LLP: 

"विमुद्रीकरण के बाद ज्वैलरी उद्योग ने नए स्तर पर विकास किया है और उद्योग जगत का रंगरूप अधिक नैतिकतापूर्ण बना है। हम 2014 से GJIIE से जुड़े रहे हैं और उद्योग जगत में बदलाव देखते हुए विकास किया है। इस वर्ष भी इस प्रदर्शनी में हमें उसी स्तर का पेशेवर अंदाज देखने और औद्योगिक विशेषज्ञों की आशा है। हम अपना NAKASHA कलेक्शन और एक अद्वितीय BALAJI स्टेच्यू प्रदर्शित कर रहे हैं।" 

Mukesh Kumar, डायरेक्टर, Prakash Gold Palace Pvt Ltd: 

"हम शुरुआत से ही GJIIE से जुड़े रहे हैं और विजिटरों की संख्या के मामले में हमारी अपेक्षाएं हर बार बढ़कर पूरी हुई हैं। GJIIE से जुड़ाव के बाद हमारी कंपनी की काफी वृद्धि हुई है। भारत में लोग नए परिवर्तन अपनाने को तैयार रहते हैं; विमुद्रीकरण से क्रेता-विक्रेता के कारोबार पर कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है। वर्ष 2017 में व्यवसाय धीमा रह सकता है, लेकिन हमें विश्वास है कि 2018 में यह निश्चित ही तेज़ गति से बढ़ेगा।" 

Karan Bothta, डायरेक्टर, White Fire Diamonds India Pvt Ltd: 

"रत्न एवं आभूषण उद्योग सदैव ही 'चमकता' रहा है। एक ग्रुप के रूप में हमने अर्थव्यवस्था में, तथा आम लोगों की बचतें बढ़ाने में काफी योगदान किया है। नवप्रवर्तन, नई मार्केटिंग तकनीकों और वाजिब कीमतों की वजह से इस उद्योग की वृद्धि हमारी कल्पनाओं से भी अधिक हो सकती है। इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से हमें अन्य कंपनियों के तमाम कर्ता-धर्ताओं से मिलने की उम्मीद है, ताकि हम उद्योग के संबंध में उनसे विचार-विमर्श कर सकें। हमने अपना ई-कैटेलॉग भी लॉन्च किया है जिसमें हमारे अल्ट्रा लाइट-वेट उत्पाद प्रदर्शित किए गए हैं। हमारे सभी मौजूदा क्लाइंट्‌स के लिए उपलब्ध इस ई-कैटेलॉग में डायमंड ज्वैलरी के 4000 से अधिक डिज़ाइन प्रदर्शित हैं। विमुद्रीकरण केवल अस्थायी सोच है, लेनदेनों में अधिक पारदर्शिता आने पर लोगों को उनके परिश्रम का निश्चित ही समुचित मूल्य प्राप्त होगा।" 

Prem Mehra, मैनेजिंग डायरेक्टर, Unique Chain Pvt Ltd:  

"हम 8 वर्षों से GJIIE में सक्रिय सहभागिता करते रहे हैं। वास्तविक खरीदारों के मामले में हमने सदैव ही सकारात्मक प्रतिक्रियाएं प्राप्त की हैं और इस साल भी हमें कुछ ऐसी ही उम्मीदें हैं। इस साल हम इस प्लेटफॉर्म पर अपने नए डिज़ाइन प्रस्तुत कर रहे हैं।" 

Ravi Chandran, डायरेक्टर, CNB Diamonds:  

"GJIIE में भागीदारी का यह हमारा सातवां साल है और हम इस प्रमाणित प्लेटफॉर्म के माध्यम से अपने क्लोज सेटिंग डायमंड आर्टिकल्स पेश कर रहे हैं। हम अवसरों पर केंद्रित आयोजन चाहते हैं और विमुद्रीकरण के पश्चात् हमें नए मज़बूत बाज़ार की तलाश है।" 

Yogandra Prakash, Suman:  

"तीसरे साल GJIIE में भागीदारी हमारे लिए हर्ष की बात है और हमें यहां बहुत अच्छा अनुभव मिलने की उम्मीद है। हर साल हम भारत जैसे विकसित होते बाज़ार में अपने अद्वितीय डिज़ाइन पेश करने के लिए इस प्लेटफॉर्म पर आते हैं। विमुद्रीकरण के पश्चात् बाज़ार के प्रति हमारा नज़रिया बहुत सकारात्मक है और यहां हमें नेटवर्किंग के अच्छे अवसर मिलने की उम्मीद है।" 

Neeral Shobhawat, डायरेक्टर, Maharaja Chains: 

"GJIIE में हम पहली बार भाग ले रहे हैं। नए रूझानों के अनुसार हम विविध ज्वैलरी डिज़ाइन पेश कर रहे हैं। हमारे विचार में, विमुद्रीकरण हमारे प्रधानमंत्री जी का एक बहुत साहसिक कदम है और इस निर्णय से हम काफी खुश हैं। यह काले धन को नष्ट कर देगा।" 

Vikaram Mehta, प्रोपराइटर, Mehta Gold & Diamonds: 

"हम पिछले 5 वर्षों से UBM India के GJIIE में सफलतापूर्वक भागीदारी करते रहे हैं। इस आयोजन की मदद से हमने अपने बिज़नेस में काफी वृद्धि की है और तमाम नए क्लाइंट पाए हैं। हम इस वर्ष अपना अद्वितीय KUNDAN NAKASHA कलेक्शन पेश कर रहे हैं। विमुद्रीकरण से बाज़ार पर असर नहीं पड़ेगा बल्कि यह सबसे बेहतर कदम साबित होने वाला है।" 

Suresh Khatri, डायरेक्टर, Mohanlal Jewellers Pvt Ltd:  

"हमें पिछले 7 वर्षों से GJIIE में भागीदारी का गर्व है। GJIIE सदैव ही सुव्यवस्थित आयोजन के रूप में हमें आकर्षित करता रहा है। इस वर्ष हम नए रूझानों के अनुरूप अपने नवीनतम ज्वैलरी डिज़ाइन पेश कर रहे हैं, जिनमें चूड़ियों और चेन के कलेक्शन शामिल हैं। विमुद्रीकरण के कारण बाज़ार को बड़ी चुनौतियों का सामना नहीं करना पड़ेगा।" 

Monil Pahuja, एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर, Damara Gold Pvt. Ltd:  

"रत्न और आभूषण उद्योग युवाओं में फैशन स्टेटमेंट के रूप में अपनी पैठ बनाता जा रहा है और आने वाले वर्षों में इसकी तेज़ वृद्धि होने की आशा है। प्रत्येक व्यापारिक प्रदर्शनी, विविध राज्यों के खरीददारों और विक्रेताओं को मिलने के अवसर देती है और उद्योग के नए रूझानों पर बातचीत करने की संभावनाएं उपलब्ध कराती है। भाग्य से, चूंकि हम अपने विविध संयंत्रों में नवीनतम तकनीकें अपनाने के मामले में सदैव अग्रणी रहे हैं, इसलिए हम दृढ़ता से यह मानते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में मज़बूती से स्पर्धा करने के लिए भारतीय निर्माताओं को यूरोपीय निर्माताओं के अनुरूप तकनीक अपनानी होगी। विमुद्रीकरण अपने यहां रिटेल व्यापार को प्रभावित नहीं करेगा क्योंकि अक्सर भारतीय खरीददार अपनी ज़्यादातर ज़रूरतें पूरी करने के लिए नकद का उपयोग करने के आदी हैं। हालांकि औसत खरीददारों का रूझान धीरे-धीरे डिजिटल तरीकों की ओर बढ़ रहा है, और इसकी वृद्धि के साथ विगत तिमाही में स्वर्ण के निर्यात को एक संकेत माना जा सकता है। विपरीत प्रभाव पहले ही सहन किया जा चुका है।" 

UBM India के विषय में  

UBM India, भारत में अग्रणी एग्जिबिशन ऑर्गनाइज़र /प्रदर्शनी आयोजनकर्ता है जो उद्योग जगत को ऐसे प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराती है जो प्रदर्शनियों, विषयवस्तु आधारित सम्मेलनों और सेमिनारों के पोर्टफोलियो के माध्यम से दुनिया भर के खरीददारों व विक्रेताओं को एक मंच पर लाते हैं। UBM India पूरे देश में हर साल बड़े पैमाने की 25 से अधिक प्रदर्शनियां और 40 कॉन्फ्रेन्स आयोजित करते हुए, उद्योग जगत के विविध क्षेत्रों के बीच व्यापार को बढ़ावा देती है। UBM एशिया कंपनी UBM India के कार्यालय मुम्बई, नई दिल्ली, बंगलौर और चैन्नई में स्थित हैं। UBM Asia का स्वामित्व UBM plc के पास है जो लंदन स्टॉक एक्सचेंज पर सूचीबद्ध है। UBM Asia, एशिया में अग्रणी प्रदर्शनी आयोजनकर्ता है और मुख्यभूमि चीन, भारत व मलेशिया में सबसे बड़ी वाणिज्यिक आयोजक है।

अधिक विवरणों के लिए कृपया ubmindia.in पर पधारें।

UBM plc के विषय में:  

UBM plc दुनिया की सबसे बड़ी प्योर-प्ले B2B इवेंट्‌स ऑर्गनाइज़र कंपनी है। बढ़ते डिजिटल प्रचलन वाली दुनिया में सार्थक मानवीय संपर्क अभूतपूर्व महत्त्वपूर्ण बन गया है। औद्योगिक क्षेत्रों के बारे में हमारे गहन ज्ञान और प्रेरणाओं के साथ UBM के माध्यम से हम ऐसे मूल्यवान अनुभव सृजित करने के लिए तत्पर रहते हैं जहां लोग सफलता प्राप्त कर सकें। हमारे कार्यक्रमों के माध्यम से लोग रिश्ते विकसित करते, सौदे संपन्न करते और अपने कारोबार बढ़ाते हैं। 20 से अधिक देशों में हमारे 3,750+ से अधिक कर्मचारी फैशन से लेकर फार्मास्यूटिकल इन्ग्रेडिएंट्‌स तक 50 विभिन्न सेक्टरों में अपनी सेवाएं देते हैं। ये विश्वस्तरीय नेटवर्क, कुशल, प्रेरित लोग और बाज़ार-अग्रणी आयोजन, कारोबारियों को उनकी महत्त्वाकांक्षाएं पूरी करने के लिए शानदार अवसर उपलब्ध कराते हैं।

अधिक जानकारी के लिए www.ubm.com देखें।

मीडिया संपर्क: Mili Lalwani mili.lalwani@ubm.com +91-2261727000 UBM India




विशेष

और भी है

सदस्यता लें

IANS Photo