फीचर


बेमौसम बारिश ने तबाह की धान की फसल (20:19)
रमेश ठाकुर
अन्नदाताओं की छह महीने की कमरतोड़ मेहनत पर एक बार फिर बेमौसम बारिश ने पानी फेर दिया है। खेतों में लहलहाती धान की फसल को नष्ट कर दिया है। बेमौसमी बारिश ने सबसे ज्यादा नुकसान तराई इलाके की फसलों को पहुंचाया है। वहां सैकड़ों एकड़ धान की फसल को पूरी तरह से चौपट कर दिया है।

शरणार्थी संकट : 2015 में हर दिन 34 हजार लोगों का पलायन (16:58)
प्रभुनाथ शुक्ल
म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों पर आए संकट और पलायन के बाद पूरी दुनिया में एक बार फिर शरणार्थी समस्या बहस का मसला बन गई है। पलायनवाद एक समुदाय विशेष की समस्या के बजाय एक वैश्विक विभीषिका के रूप में उभरा है। संयुक्त राष्ट्र भी इस पर गहरी चिंता जता चुका है। लेकिन आंतरिक गृहयुद्ध, जातीय हिंसा के साथ आतंकवाद की वजह से सबसे अधिक लोगों का पलायन हुआ है।

हिंसा की यादों को भुलाकर दुर्गा पूजा उत्सव के लिए तैयार बशीरहाट (11:41)
मिलिंद घोष राय
बशीरहाट (पश्चिम बंगाल), 24 सितम्बर (आईएएनएस)| पश्चिम बंगाल के 24 उत्तरी परगना जिले का उप संभाग बशीरहाट इस साल जुलाई में हुए सांप्रदायकि तनाव की यादों को भुलाने की हरसंभव कोशिश कर रहा है। उन दिनों की कड़वी यादों व दर्द को दुर्गा पूजा के उत्सव में भूलने की कोशिश हो रही है, लेकिन थोड़ी चिंताए भी बरकरार हैं।

'पालनपीठ' के रूप में प्रसिद्ध है गया का मां मंगलागौरी मंदिर (फोटो सहित) (With Images) (09:54)
मनोज पाठक
गया (बिहार), 24 सितंबर (आईएएनएस)| नवरात्र के मौके पर प्रत्येक देवी स्थानों पर भक्तों की भारी भीड़ इकट्ठा हो रही है। ऐसे में बिहार के गया शहर से कुछ ही दूरी पर भस्मकूट पर्वत पर स्थित शक्तिपीठ मां मंगलागौरी मंदिर पर सुबह से ही भक्तों का तांता लग जाता है। मान्यता है कि यहां मां सती का वक्ष स्थल (स्तन) गिरा था, जिस कारण यह शक्तिपीठ 'पालनहार पीठ' या 'पालनपीठ' के रूप में प्रसिद्ध है।

लीसेस्टर यूनिवर्सिटी में 14 साल का नन्हा प्रोफेसर (09:21)
लंदन, 24 सितम्बर (आईएएनएस)| मात्र 14 साल की उम्र में बच्चों को गलियों या ग्राउंड में खेलते देखना आम बात है, लेकिन किसी 14 साल के बच्चे को यूनिवर्सिटी जाते देखना और वहां जाकर अपने से बड़े बच्चों की क्लास लेना कुछ खास होने की कहानी बयां करता है। जी हां वाकया इंग्लैंड की लीसेस्टर यूनिवर्सिटी का है जहां ईरानी मूल का 14 साल का मुस्लिम किशोर यूनिवर्सिटी में गणित का प्रोफेसर बन बच्चों की क्लास ले रहा है।

ताहा शाह ने 100 बार डायलॉग सुने (08:12)
मुंबई, 22 सितम्बर (आईएएनएस)| आगामी फिल्म 'रांची डायरीज' में रांची के चाउमीन बेचने वाले की भूमिका निभा रहे अभिनेता ताहा शाह ने सात्विक मोहंती की आवाज में संवाद रिकॉर्ड किए और उसे ठीक ढंग से बोल पाने के लिए 100 से अधिक बार सुना।

गर्भवती व्रती नवरात्र में बरतें खास सावधानी (19:10)
प्रज्ञा कश्यप
नई दिल्ली, 21 सितंबर (आईएएनएस)| गर्भावस्था के नौ महीनों के दौरान करवा चौथ, तीज, शिवरात्रि और नवरात्रि जैसे त्योहारों का पड़ना लाजिमी है। ऐसे में जब सामान्य तौर पर अधिकांश महिलाएं व्रत रखती हैं तो क्या गर्भवती महिलाएं भी उपवास रख सकती हैं? यह बड़ा सवाल है। चिकित्सकों का कहना है कि व्रत के दौरान अच्छा-बुरा प्रभाव केवल मां पर ही नहीं, बल्कि होने वाली संतान पर भी पड़ सकता है, इसलिए सावधानी बहुत जरूरी है।

6 घंटे से कम सोना गुर्दे की बीमारी को बुलावा (10:47)
नई दिल्ली, 20 सितंबर (आईएएनएस)| एक ताजा अध्ययन के मुताबिक, रात में छह घंटे से कम सोने वाले लोगों को गंभीर गुर्दा रोग (सीकेडी) होने का अंदेशा बढ़ जाता है। नींद में बार-बार बाधा पड़ने से किडनी फेल होने का जोखिम भी बढ़ जाता है। सीकेडी वाले लोगों को अक्सर उच्च रक्तचाप, मोटापे और मधुमेह के साथ होने वाली अन्य शिकायतें भी रहती हैं।

ओवेरियन कैंसर के लक्षण आखिर तक स्पष्ट नहीं होते (10:44)
नई दिल्ली, 19 सितंबर (आईएएनएस)| आंकड़ों के मुताबिक, महिलाओं में जितने भी प्रकार के कैंसर होते हैं, उनमें डिंबग्रंथि या ओवेरियन कैंसर आठवां सबसे आम कैंसर है। मृत्यु दर के मामले में इसका स्थान पांचवां है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अनुसार, एडवांस्ड स्टेज तक पहुंचने और जल्दी मृत्यु होने का मुख्य कारण यह है कि अंतिम समय तक कई महिलाओं में इस बीमारी के लक्षण प्रकट ही नहीं होते।

सरदार सरोवर : कहां जाएंगे उजड़े लोग? (19:51)
प्रभुनाथ शुक्ल
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 67वें जन्मदिन पर दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी जल परियोजना सरदार सरोवर बांध देश को समर्पित किया। निश्चित तौर पर उन्होंने इतिहास का नया अध्याय लिखा है। 56 साल से जो महात्वाकांक्षी परियोजना तकनीकी और दूसरे गतिरोध की वजह से ठप पड़ी थी, उसे उन्होंने मूर्तरूप दिया है।

10 करोड़ का पूजा पंडाल 'बाहुबली-2' के सेट जैसा! (11:50)
सहाना घोष
कोलकाता, 18 सितंबर (आईएएनएस)| चंद दिनों बाद दुर्गा पूजा शुरू होने वाली है। पश्चिम बंगाल में भव्य दुर्गा पूजा पंडालों की तैयारी अंतिम चरण में है। राजधानी कोलकाता के आयोजकों ने फिल्म 'बाहुबली-2' की लोकप्रियता से प्रभावित होकर भव्य माहिष्मती नगरी के सेट की तर्ज पर पंडाल को अंतिम रूप दिया है। करीब 10 करोड़ रुपये के बजट से बन रहे इस पंडाल में देवी सोने के आभूषणों से सजी होंगी।

बदलती जीवनशैली से भी स्तन कैंसर संभव (09:11)
नई दिल्ली, 18 सितंबर (आईएएनएस)| भारत में महिलाओं में कैंसर के मामलों में 27 प्रतिशत मामले स्तन कैंसर के हैं। इस तरह की परेशानी 30 वर्ष की उम्र के शुरुआती वर्षो में होती है, जो आगे चलकर 50 से 64 वर्ष की उम्र में भी हो सकती है।

पेट्रोल-डीजल के आ गए अच्छे दिन! (19:47)
ऋतुपर्ण दवे
अब तक सभी यह मानते थे कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में पेट्रोल की कीमतें घटती हैं तो असर भारत में भी दिखता है, लेकिन अब यह बीते दिनों की बात हो गई है। फिलहाल ठीक उल्टा है। विश्व बाजार में दाम घट रहे हैं, हमारे यहां लगातार बढ़ रहे हैं। लोगों की चिंता वाजिब है। आखिर यह खेल है क्या? शायद यह हमारी नीयति है या राजनैतिक व्यवस्था का खामियाजा?

अस्तित्व और धीरज की गाथा पेश करते कश्मीर के चरवाहे (18:38)
शेख कयूम
श्रीनगर, 17 सितम्बर (आईएएनएस)| जम्मू एवं कश्मीर के साहसी चरवाहों, जिन्हें 'बकरवाल' कहा जाता है, के लिए शरद ऋतु की शुरुआत के साथ ही घाटी के पहाड़ों के चारागाहों को अलविदा कहने का वक्त आ गया है।

पितृपक्ष में महाबोधि मंदिर बना सनातन व बौद्ध धर्मावलंबियों का संगमस्थल (10:48)
मनोज पाठक
गया (बिहार), 17 सितंबर (आईएएनएस)| बिहार के गया में पितृपक्ष के मौके पर लाखों हिंदू धर्मावलंबी अपने पुरखों की मोक्ष प्राप्ति के लिए पिंडदान और तर्पण कर रहे हैं। ऐसे में महात्मा बुद्ध की ज्ञानस्थली बोधगया में भी अनूठा संगम देखने को मिल रहा है। एक ओर जहां महाबोधि मंदिर परिसर में 'बुद्धं शरणं गच्छामि' के स्वर गूंज रहे हैं, वहीं दूसरी ओर पिंडवेदियों पर मोक्ष के मंत्रों का उच्चारण हो रहा है।

स्क्रब टाइफस के बारे में जागरूकता जरूरी (09:29)
नई दिल्ली, 16 सितंबर (आईएएनएस)| इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) का कहना है कि प्राथमिक और माध्यमिक देखभाल के स्तर पर काम करने वाले चिकित्सकों के लिए स्क्रब टायफस को लेकर अधिक जागरूक होने की जरूरत है। साथ ही, स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली में इस रोग की पहचान करने की सुविधाएं होना भी नितांत आवश्यक हैं।

बुंदेलखंड में बारिश कम, फिर सूखे का संकट (19:10)
आर. जयन
बांदा, 15 सितंबर (आईएएनएस)| उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुंदेलखंड के सभी सात जिलों में कम बारिश की वजह से एक बार फिर सूखा पड़ने के हालात बन गए हैं। किसानों की फसल सूखती जा रही है, जिससे किसानों के माथे में चिंता की लकीरें साफ झलकने लगी हैं। मौसम विभाग के अनुसार, 899 मिलीमीटर की सापेक्ष सिर्फ 477 मिलीमीटर की बारिश रिकार्ड की गई है।

वैवाहिक दुष्कर्म : कोई क्यों सहे दर्द चुपचाप? (With Images) (16:57)
रीतू तोमर
नई दिल्ली, 14 सितंबर (आईएएनएस)| विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौशल ने एक बार कहा था कि वैवाहिक दुष्कर्म जैसी कोई चीज नहीं होती, अगर ऐसा हुआ तो हमारे घर पुलिस थानों में तब्दील हो जाएंगे। उनकी बात मानना मीरा (बदला हुआ नाम) जैसी उन महिलाओं के घाव पर नमक छिड़कने जैसा होगा, जो शादी की आड़ में अपने साथ हो रहे दुष्कर्म की आदी हो चुकी हैं।

मानसिक रोगों पर भारत में अभी भी खास ध्यान नहीं (08:58)
नई दिल्ली, 14 सितंबर (आईएएनएस)| इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) का मानना है कि देश में मानसिक रोगों को अभी भी उचित महत्व नहीं दिया जा रहा। देशभर में किए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार, भारत की सामान्य जनसंख्या का लगभग 13.7 प्रतिशत हिस्सा मानसिक बीमारियों से ग्रस्त है। इसके अलावा, इनमें से लगभग 10.6 प्रतिशत लोगों को तत्काल चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता होती है।

दिख रहे हिंदी के अच्छे दिन (14 सितंबर : हिंदी दिवस) (20:22)
रमेश ठाकुर
केंद्र सरकार ने हिंदी को बढ़ावा देने के लिए अप्रत्याशित कदम उठाए हैं। तकरीबन सभी मंत्रालयों में हिंदी को ज्यादा से ज्यादा अपनाने को कहा गया है। सरकार इस बात पर ज्यादा 'फोकस' करके चल रही है कि मंत्रालयों में दैनिक कामकाज और आम बोलचाल की भाषा हिंदी ही हो। सरकार के इस फरमान का सकारात्मक असर भी देखने को मिल रहा है।

सीपीग्राम्स के जरिए शिकायत निवारण प्रणाली में क्रांति (09:56)
अमिताभ शुक्ला
सरकारी कामकाज में सुधार और जवाबदेही लाने के लिए पिछले कई दशकों से बदलाव किए जा रहे हैं। इन बदलावों के कारण आम आदमी को कानूनी जंजाल से निकलने और निचली श्रेणी की नौकरशाही की उपेक्षा से बचने में काफी मदद मिल रही है। उसकी शिकायतों को दूर करने में लगने वाले समय में भी उल्लेखनीय सुधार हुआ है।

बिहार : प्रेतशिला वेदी पर पिंडदान से पुरखों को प्रेतात्मा योनि से मिलती है मुक्ति (फोटो सहित) (With Images) (10:51)
मनोज पाठक
गया, 10 सितंबर (आईएएनएस)| ऐसे तो आश्विन महीने के कृष्ण पक्ष 'पितृपक्ष' के प्रारंभ होने के बाद अपने पुरखों की आत्मा की शांति और उनके उधार (मोक्ष) के लिए लाखों लोग मोक्षस्थली गया में पिंडदान के लिए आते हैं। परंतु पिंडदान के लिए विश्व में सर्वश्रेष्ठ इस गया में वे प्रेतशिला वेदी पर पिंडदान करना नहीं भूलते। मान्यता है कि प्रेतशिला में पिंडदान के बाद ही पितरों को प्रेतात्मा योनि से मुक्ति मिलती है।

पर्यटकों को लुभाता है गुजरात का सापुतारा मॉनसून उत्सव (फोटो सहित) (With Images) (10:13)
संजीव स्नेही
सापुतारा (गुजरात), 10 सितम्बर (आईएएनएस)| गुजरात के इकलौते हिल स्टेशन सापुतारा में एक महीने तक चलने वाला मानसून उत्सव पर्यटकों एवं घूमने-फिरने के शौकीन लोगों के लिए आकर्षक जगह है। मॉनसून उत्सव में रिमझिम बारिश के बीच प्रदर्शनी, साहसिक गतिविधियों, सांस्कृतिक कार्यक्रमों, भोजन महोत्सव, इंटरैक्विट, खेल, प्रतियोगिताएं, फ्लैश मॉब तो पर्यटकों को आकर्षित करते ही हैं साथ ही बोट राइडिंग और रोप-वे का लुत्फ भी उठाया जा सकता है।

बच्चों में एडीएचडी रोग का कारण तनाव (09:24)
नई दिल्ली, 10 सितंबर (आईएएनएस)| अध्ययनों के अनुसार, भारत में लगभग 1.6 प्रतिशत से 12.2 प्रतिशत तक बच्चों में एडीएचडी की समस्या पाई जाती है। अटेंशन डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी डिस्ऑर्डर अथवा ध्यान की कमी और अत्यधिक सक्रियता की बीमारी को एडीएचडी कहा जाता है।

ढोंगियों की ध्वजा ढोने की ये कैसी मजबूरी! (12:11)
ममता अग्रवाल
नई दिल्ली, 9 सितंबर (आईएएनएस)| मैसेंजर ऑफ गॉड यानी राम रहीम सिंह इंसां के किले की तलाशी शुरू हो चुकी है। सात सौ एकड़ में फैले डेरा सच्चा सौदा के रहस्यलोक से पर्दा उठाने के लिए कोर्ट कश्मिनर की निगरानी में पांच हजार अर्धसैनिक जवान, 47 कमांडो, ताले तोड़ने वाले 22 लुहार और नोट गिनने के लिए 100 बैंककर्मी अपना पसीना बहा रहे हैं। एक ढोंगी का जलवा इतना कि इलाके में कर्फ्यू लगाना पड़ा है।

विशेष

और भी है

सदस्यता लें

IANS Photo