फीचर


हैदराबाद की संस्था ने जकात से जगाया शिक्षा का अलख (15:48) IANS Photo Service
मोहम्मद शफीक
हैदराबाद, 21 जनवरी (आईएएनएस)| हैदराबाद की एक संस्था ने जकात से शिक्षा का अलख जगाया है। पिछले 25 सालों से गरीब, बेसहारा और अनाथ बच्चों की शिक्षा के लिए कार्यरत यह संस्था जकात में संग्रह किए गए धन से चलती है।

उप्र : अधूरे इंतजामों के बीच फिर होगी आलू पर सियासत (12:17)
विद्या शंकर राय

शंकराचार्य की 108 फुट की प्रतिमा बनेगी ओंकारेश्वर की पहचान (11:00)
संदीप पौराणिक
भोपाल, 21 जनवरी (आईएएनएस)| देश और दुनिया में नर्मदा नदी के तट पर स्थित ओंकारेश्वर की पहचान बारह ज्योर्तिलिंगों में से एक के तौर पर रही है, लेकिन आने वाले समय में यह स्थान शंकराचार्य की ज्ञान स्थली के तौर पर भी पहचाना जाएगा, क्योंकि यहां आदि शंकराचार्य की 108 फुट की प्रतिमा स्थापित की जा रही है।

मप्र उपचुनाव : सिंधिया बनाम शिवराज सरकार (09:35)
संदीप पौराणिक
भोपाल, 19 जनवरी (आईएएनएस)| मध्य प्रदेश में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले के दो विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव कांग्रेस और उसके सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ भारतीय जनता पार्टी व शिवराज सिंह चौहान के लिए बड़ी चुनौती है। यही कारण है कि तारीख के ऐलान से पहले ही उपचुनाव में जीत के लिए सिंधिया बनाम भाजपा और शिवराज सरकार ने पुरजोर जोर लगा दिया है।

साइकिल पर घूम रहा 'आधी आबादी' का हक (With Images) (17:03)
रीतू तोमर
नई दिल्ली, 18 जनवरी (आईएएनएस)| एक शख्स साइकिल पर सवार होकर महिलाओं को पुरुषों के समान अधिकार दिए जाने के प्रति जागरूकता फैलाने के मिशन पर निकला है। वह उस सोच को समझने और उसमें बदलाव की उम्मीद भरी यात्रा पर है, जो एक महिला को महज महिला होने की वजह से दोयम दर्जे की मानती है।

डेस्टिनेशन वेडिंग में इन बातों का रखें ध्यान (11:12)
नई दिल्ली, 18 जनवरी (आईएएनएस)| डेस्टिनेशन वेडिंग की लोकप्रियता दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, लेकिन ऐसी वेडिंग की योजना बनाते समय ऐसी कुछ बातें ध्यान में रखनी जरूरी हैं, जिससे बाद में किसी प्रकार की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़े।

'डिजाइन के लिए भारत बड़ी प्रेरणा' (09:16)
नई दिल्ली, 18 जनवरी (आईएएनएस)| भारतीय उपभोक्ता, खासकर महिलाएं हीरे के गहनों को समझने के प्रति अधिक शिक्षित हो रही हैं और भारत डिजाइन के लिए बहुत बड़ी प्रेरणा है। मिलान स्थित अंतर्राष्ट्रीय डिजाइन विशेषज्ञ फेडेरिका इंपेरियली ने यह बातें कहीं हैं।

मेकअप में टैल्कम पाउडर का यूं करें इस्तेमाल (09:30)
नई दिल्ली, 16 जनवरी (आईएएनएस)| टैल्कम पाउडर न सिर्फ पसीना सोखने और खूशबू के लिए इस्तेमाल में लाया जा सकता है बल्कि इसका इस्तेमाल मेकअप सेट करने में भी किया जा सकता है।

बिहार के 15 वर्षीय आकाशदीप ने पेंटिंग में दुनिया को दिखाया हुनर (फोटो सहित) (With Images) (19:32)
मनोज पाठक
नवादा (बिहार), 14 जनवरी (आईएएनएस)| अगर आप में हुनर हो, तो परिस्थितियां कभी आपको आगे बढ़ने से रोक नहीं सकतीं। बिहार के पिछड़े इलाके, यानी नक्सल प्रभावित नवादा जिले के सिरदला निवासी 10वीं कक्षा के छात्र आकाशदीप ने पेंटिंग में अपने हुनर की बदौलत पूरी दुनिया में अपनी कल्पनाशीलता का न केवल लोहा मनवाया, बल्कि इसी की बदौलत उसे पुरस्कार स्वरूप फरवरी, 2018 में कोरिया में आयोजित होनेवाले विंटर ओलंपिक प्रतियोगिता देखने के लिए आमंत्रित भी किया गया है।

दावोस में मोदी-ट्रंप, खंडित दुनिया को देंगे मंत्र (18:00)
ऋतुपर्ण दवे
'खंडित दुनिया में साझा भविष्य के निर्माण' की खातिर, इस बार 'विश्व आर्थिक मंच' स्विटजरलैंड के दावोस में मंथन करेगा। 1971 में गठित संगठन की यह 48वीं बैठक जरूर होगी लेकिन मकसद वही यानी दुनिया के तमाम देशों और उनकी ताकतों के बीच बेहतर तालमेल से मजबूत माहौल बने। बड़ी राजनीतिक, आर्थिक, और सामाजिक चुनौतियों का सभी मिल जुलकर मुकाबला कर सकें और दुनिया का माहौल सकारात्मक हो। 400 से अधिक बैठकों के होने वाले दौर में 100 से ज्यादा देशों के 2500 से अधिक प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे।

उप्र के 2 गांव : 21वीं सदी में ढिबरी युग (09:20)
अंबेडकरनगर (उप्र), 14 जनवरी (आईएएनएस/आईपीएन)। 'कहां तो तय था चरागा हरेक घर के लिए/आज चिराग मयस्सर नहीं शहर के लिए।' हिंदी गजलों को जन-जन से जोड़ने वाले कवि दुष्यंत कुमार की यह पंक्ति उत्तर प्रदेश के दो गांवों-उसरहा और बगिया की याद दिलाती है, जहां 21वीं सदी में भी बिजली नहीं पहुंची है।

गूगल क्लाउड प्लेटफार्म उद्यमों, एसएमबी को बनाएगा सशक्त (17:49) IANS Photo Service
निशांत अरोड़ा
नई दिल्ली, 13 जनवरी (आईएएनएस)| कई भारतीय कंपनियां पिछले कुछ सालों से अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए गूगल क्लाउड का सहारा ले रही हैं। गूगल ने देश में गूगल क्लाउड प्लेटफार्म (जीसीपी) के क्षेत्रीय संस्करण को पेश किया है, ताकि ज्यादा से ज्यादा स्थानीय कंपनियों को इससे जोड़ा जा सके।

माता-पिता की वेदना मेरी प्रेरणा बन गई : महादेव समजिसकर (साक्षात्कार) (With Images) (11:19)
मोनिका चौहान
नई दिल्ली, 13 जनवरी (आईएएनएस)| इस साल 21 जनवरी को आयोजित होने वाले टाटा मुंबई मैराथन में 15वीं बार हिस्सा ले रहे 75 वर्षीय महादेव समजिसकर कई लोगों के लिए प्रेरणास्रोत बन चुके हैं, लेकिन उन्हें प्रेरणा उनके माता-पिता की वेदना से मिली।

जयललिता के इलाज मामले में अपोलो ने सौंपे दस्तावेज (20:22) IANS Photo Service
चेन्नई, 12 जनवरी (आईएएनएस)| अपोलो अस्पताल ने शुक्रवार को तमिलनाडु की पूर्व व दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता के इलाज से संबंधित दस्तावेज दो सूटकेस में बंद कर उनके स्वास्थ्य की जांच के लिए गठित जांच आयोग को सौंप दिए।

गुरु परमहंस से बहुत प्रभावित थे विवेकानंद (19:53)
नई दिल्ली, 12 जनवरी (आईएएनएस)| स्वामी विवेकानंद वेदांत के विख्यात और प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु थे। वह अपने गुरु रामकृष्ण परमहंस से अत्यंत प्रभावित थे। उन्होंने गुरु से सीखा था कि सारे जीव परमात्मा के ही अवतार हैं, इसलिए मानव जाति की सेवा द्वारा परमात्मा की सेवा की जा सकती है।

धर्मो के रास्ते अलग, ध्येय किंतु एक : स्वामी विवेकानंद (जयंती : 12 जनवरी) (16:52)
जितेंद्र गुप्ता
नई दिल्ली, 11 जनवरी (आईएएनएस)| 'उठो, जागो और तब तक रुको नहीं, जब तक मंजिल प्राप्त न हो जाए', 'यह जीवन अल्पकालीन है, संसार की विलासिता क्षणिक है, लेकिन जो दूसरों के लिए जीते हैं, वे वास्तव में जीते हैं।' गुलाम भारत में ये बातें स्वामी विवेकानंद ने अपने प्रवचनों में कही थी। उनकी इन बातों पर देश के लाखों युवा फिदा हो गए थे। बाद में तो स्वामी की बातों का अमेरिका तक कायल हो गया।

'मुस्लिम लड़कियों की घर व स्कूल की शिक्षा में फर्क नहीं' (16:02) IANS Photo Service
साकेत सुमन
नई दिल्ली, 11 जनवरी (आईएएनएस)| करीब एक दशक पहले लतिका गुप्ता ने जब दिल्ली विश्वविद्यालय में अध्यापन आरंभ किया था तो वह यह जानने को लेकर उत्सुक थीं कि लड़कियों के जीवन पर धर्म और लैंगिक पहचान का परस्पर क्या प्रभाव पड़ता है। इस लगभग अनजान से पहलू की तलाश में वह जिस यात्रा पर निकलीं, उसका समापन एक एक पुस्तक के रूप में हुआ, जो हाल ही में प्रकाशित हुई है।

'स्लोगन बाबा' ने गंगा प्रेमियों को भी ठगा : राजेंद्र सिंह (साक्षात्कार) (With Images) (10:24)
संदीप पौराणिक
भोपाल, 10 जनवरी (आईएएनएस)| लगभग पौने चार वर्षो में केंद्र सरकार गंगा नदी की अविरलता और इसे प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए कोई सार्थक काम कर पाने में नाकाम रही। इससे गंगा प्रेमी नाराज हैं। दुनिया में 'जलपुरुष' के नाम से विख्यात राजेंद्र सिंह का तो यहां तक कहना है कि 'स्लोगन बाबा (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) ने गंगा प्रेमियों को भी ठगने में कसर नहीं छोड़ी है।'

सर्दियों में त्वचा को यूं रखें मुलायम (09:27)
नई दिल्ली, 10 जनवरी (आईएएनएस)| सर्दियों में त्वचा में रूखापन आना आम बात है, इसलिए त्वचा में कोमलता बरकरार रखने के लिए पपीता, नींबू या शहद युक्त नैचुरल मॉइश्चराइजर या कोकोनट मास्क का इस्तेमाल करें।

कश्मीर : सर्दियों में अब नहीं मिलते किस्सागो (12:22)
शेख कय्यूम
श्रीनगर, 9 जनवरी (आईएएनएस)| कश्मीर के हाथ से जैसे उसकी एक विरासत फिसलती जा रही है। हड्डियों को जमा देने वाली ठंड में घाटी के बच्चों को खासकर यह गर्म रखा करती थी।

बस्तर में विदेशी प्रोफेसर सिखा रहे सस्ते मकान बनाना (फोटो सहित) (10:56)
जगदलपुर (छत्तीसगढ़), 9 जनवरी (आईएएनएस/वीएनएस)। प्रकृति के बीच रहने वाले आदिवासियों को प्राकृतिक साधनों से ही आत्मनिर्भर बनाने के लिए मेक्सिको के एक प्रोफेसर ने मुहिम शुरू की है। भारतीय मूल के प्रो. वरुण दाइटम और स्कॉटलैंड की प्रोफेसर इंडिया स्थानीय इंजीनियरों को कम खर्च में ईको फ्रेंडली मकान, डोम और अन्य निर्माण का प्रशिक्षण दे रहे हैं।

बुंदेलखंड : किसान आत्महत्याओं से बच्चों पर दहशत का साया (09:06)
संदीप पौराणिक
भोपाल/झांसी, 8 जनवरी (आईएएनएस)| बुंदेलखंड में बड़ी संख्या में हो रही किसान आत्महत्याओं की दहशत इलाके के बच्चों (12-14) के दिल और दिमाग पर बहुत गहरा असर छोड़ रही है। यह दुष्प्रभाव उनकी पूरी जिंदगी में नजर आएगा, इस आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता।

मध्यप्रदेश में समृद्ध शैव परम्परा (19:31)
दिनेश मालवीय
भारत का हृदयस्थल आधुनिक मध्यप्रदेश जिस भू-भाग में स्थित है, उसमें युगों-युगों से बहुत ही समृद्ध शैव परम्परा रही है। यह आज भी पहले जैसी ही जीवंत है। कुल 12 ज्योतिर्लिगों में से 2- श्री महाकालेश्वर और श्री ओंकारेश्वर यहीं स्थित हैं। यह समृद्ध शैव परम्परा प्रदेश के सभी भागों में प्रचलित रही है, जिसके प्रमाण बड़ी संख्या में स्थित शिव मंदिरों, शिव के विभिन्न स्वरूपों को अभिव्यक्त करने वाली मूर्तियों और भग्नावशेषों में मिलते हैं।

भारत में भी भारतीय भोजन का अभाव (19:24)
हृदयनारायण दीक्षित
भूख स्वाभाविक इच्छा है। यह हमारी योजना का परिणाम नहीं है। भोजन बिना शरीर नहीं चलता। सो प्रकृति ने हम सबके शरीर में 'भूख' नाम की इच्छा ग्रंथि जोड़ी है। पीछे सप्ताह कोहरे की एक रात में मैं अपने सहायक दल के साथ उत्तर प्रदेश में प्रवास पर था। सड़क के किनारे ढाबे की खोज में था। स्थानीय पुलिस ने मुझे एक सुंदर होटल तक पहुंचाया। ठेठ ग्रामीण क्षेत्र में भी मैनेजर ने अंग्रेजी टाइप बातें की। उसने अंग्रेजी टाइप भाषा में खाद्य पदार्थो के नाम बताए।

अलखपुरा की लड़कियों को फुटबॉल ने बनाया सशक्त (17:45) IANS Photo Service
मुदिता गिरोत्रा
अलखपुरा (हरियाणा), 7 जनवरी (आईएएनएस)| कड़ाके की ठंड और जाड़े की दोपहर में बारिश के बीच जिला मुख्यालय भिवानी से 30 किलोमीटर दूर अलखपुरा गांव के स्कूल के लड़के छुट्टी की घंटी बजते ही घर लौटने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन लड़कियां? वे तो रोज की तरह आज भी अपने किट संभालने और फुटबॉल खेल के मैदान की तरफ कदम बढ़ा रही थीं।

विशेष

और भी है

सदस्यता लें

IANS Photo